महिलाओं में सेक्स इच्छा कम होना

About Dr. Nagender Kumar

Urologist, Sex counselor

परिभाषा के अनुसार चलें तो आपको इस सेक्स इच्छा कम होने के विकार से ग्रसित तब माना जाएगा जब कई बार ऐसा हो कि आपमें सेक्स के विचार या इच्छा न आए, और इन एहसासों की कमी से आप निजी तनाव में आ जाएँ। आप चाहे इसकी चिकित्सकीय परिभाषा में आती हों या न आती हों, आपकी डॉक्टर उन कारणों तक जरूर पहुँचना चाहेगी जिनसे आपकी सेक्स इच्छा कम हो रही हो और वे इसके इलाज के तरीके ढूँढ़ेंगी।

डॉक्टर आपसे आपके मेडिकल और सेक्स इतिहास के बारे में प्रश्न पूछेंगी, और साथ ही वे ये भी करवा सकती हैं:

  •  श्रोणि क्षेत्र की जाँच। श्रोणि क्षेत्र की जाँच के दौरान आपकी डॉक्टर सेक्स इच्छा कम होने के शारीरिक कारणों की जाँच कर सकती हैं, जैसे जननांगों के ऊतकों का पतला हो जाना, योनि में सूखापन या कुछ जगहों पर दबाने से दर्द होना।
  •  टेस्ट करवाने को कहना। आपकी डॉक्टर खून की ऐसी जाँचें करने को कह सकती हैं जिनमें हॉरमोन स्तर तथा थायरॉइड स्तर, उच्च कॉलेस्ट्रोल और लिवर के विकारों की जाँच की जाए।
  •  आपको किसी विशेषज्ञ को दिखाने को कह सकती हैं। कोई विशेषज्ञ या सेक्स थेरेपिस्ट उन भावनात्मक और रिश्तों से संबंधी कारकों की जाँच ज़्यादा अच्छी तरह से कर सकता है जिनके कारण सेक्स इच्छा कम हो जाती है।

इलाज

अधिकतर महिलाओं को इलाज के ऐसे तरीके से फायदा होता है जो इसके पीछे के कारणों को ठीक करते हैं। इसके लिए सेक्स शिक्षा, सलाह, और कई बार दवाइयाँ तथा हॉरमोन थेरेपी की भी सलाह दी जा सकती है।

सेक्स शिक्षा और सलाह

सेक्स समस्याओं का निदान करने के लिए किसी सेक्स थेरेपिस्ट या काउंसलर से बात करने से कम सेक्स इच्छा में लाभ हो सकता है। थेरेपी में अधिकतर सेक्स प्रतिक्रिया और तकनीकों के बारे में शिक्षा दी जाती है। आपकी थेरेपिस्ट या काउंसलर आपको कुछ खास चीजें पढ़ने के लिए कहेंगी या कुछ दंपति व्यायाम सुझाएंगी। जोड़ों की ऐसी काउंसलिंग जिसमें रिश्तों के मुद्दों को ठीक किया जाता है, घनिष्ठता और इच्छा बढ़ा सकते हैं।

दवाएँ

आपकी डॉक्टर आप जो दवाएँ ले रही हैं, उनकी समीक्षा करेंगी ताकि वो देख सकें कि कहीं इनके साइड-इफ़ेक्ट से ही तो सेक्स साइड-इफ़ेक्ट नहीं हो रहे। जैसे, पैरोक्सेटीन (पाक्सिल) और फ्लूक्ज़ोट्रीन (प्रोज़ाक, साराफेम) जैसे एंटीडिप्रेससेंट की वजह से तो सेक्स इच्छा कम नहीं हो रही। इनकी जगह बूप्रोपियोन (वेलब्यूट्रीन एसआर, वेलब्यूट्रीन एक्सएल) – जो एक अलग तरह की एंटीडिप्रेसेंट है – लेने से आम तौर पर सेक्स इच्छा बढ़ जाती है और इसे कई बार एचएसडीडी के लिए लिखा जाता है।

काउंस्लिंग के साथ ही आपकी डॉक्टर फ्लिबानसेरीन (एडी) भी लिख सकती हैं जिससे कामेच्छा बढ़ती है। यह फूड एंड ड्रग एड्मिनिसट्रेशन (एफडीए) द्वारा अनुमोदित की गई पहली दवा है जिसे रजोनिवृत्ति के पहले महिलाओं में एचएसडीडी ठीक करने के लिए उपयोग किया जाता है। आप यह गोली दिन में एक बार सोने जाने के पहले ले सकती हैं। इसके संभावित साइड-इफ़ेक्ट हैं रक्त चाप कम हो जाना, चक्कर आना, मितली और थकान। शराब पीने या फ्लूकोनाज़ोल (डाईफ्लूकान), जो योनि के यीस्ट इन्फेक्शन ठीक करने की एक आम दवा है, ये साइड-इफ़ेक्ट और बिगड़ सकते हैं।

हॉरमोन इलाज

योनि में सूखापन या उसके सिकुड़ जाने (वैजाइनल एट्रोफी) से भी सेक्स में असुविधा हो सकती है जिससे आपकी इच्छा घट सकती है। स्ट्रोजन से वैजाइनल एट्रोफी के लक्षणों में राहत मिलती है। लेकिन एस्ट्रोजन हाईपोएक्टिव सेक्स इच्छा कम होने के विकार को ठीक नहीं करता।

एस्ट्रोजन कई रूपों में मिलता है, जिसमें दवाएँ, पैच, स्प्रे और जैल शामिल हैं। योनि की क्रीमों और स्लो-रिलीज़िंग सपोसिटरी या रिंग में एस्ट्रोजन के छोटे डोज़ पाए जाते हैं। अपनी डॉक्टर से इसके हर प्रकार के जोखिम और लाभ जरूर पूछें।

टेस्टोस्टेरोन जैसे पुरुष हॉरमोन भी महिला सेक्स कार्यकलाप में महत्वपूर्ण भूमिका अदा करता हैं, हालांकि टेस्टोस्टेरोन महिलाओं में काफी कम मात्रा में होता है। इसे महिलाओं के सेक्स कार्यकलाप को ठीक करने के लिए एफ़डीए ने अनुमोदित नहीं किया है लेकिन इसे कई बार घट रही इच्छा को बढ़ाने के लिए ऑफ-लेबल लिखा जाता है। लेकिन महिलाओं में टेस्टोस्टेरोन का उपयोग विवादास्पद है। इसे लेने से मुँहासे, शरीर पर ज़्यादा बाल, और मूड तथा पर्सनालिटी में बदलाव नज़र आ सकते हैं।

जीवनशैली और घरेलू इलाज

जीवनशैली में स्वस्थ बदलावों से आपकी सेक्स इच्छा में बड़े बदलाव आ सकते हैं:

  • व्यायाम। नियमित एरोबिक व्यायाम और वजन उठाने की ट्रेनिंग से आपका स्टैमिना बढ़ सकता है, आपकी बॉडी की इमेज अच्छी हो सकती है, मूड अच्छा हो जाता है और कामेच्छा बढ़ जाती है।
  • तनाव स्तर। काम से संबंधी, आर्थिक और रोज़मर्रा के तनाव का सामना करने का अच्छा तरीका ढूंढने से आपकी सेक्स इच्छा बेहतर हो सकती है।
  • अपने पार्टनर से बात करें। जो दंपति आपस में खुल कर ईमानदारी से बात करते हैं, उनकी भावनात्मक घनिष्ठता ज़्यादा मजबूत होती है जिससे सेक्स अच्छा हो सकता है। सेक्स के बारे में बात करना जरूरी होता है। अपनी पसंदों और नापसदों की चर्चा करने से सेक्स में घनिष्ठता बढ़ जाती है।
  • नज़दीकियों के लिए समय निकालें। अपनी दिनचर्या में सेक्स को एक प्राथमिकता बनाने से आपकी सेक्स इच्छा वापस लाइन पर आ सकती है।
  • अपने सेक्स जीवन को थोड़ा नमकीन बनाएँ। कोई दूसरी सेक्स पोजीशन ट्राय करें, दिन में किसी अलग समय पर या किसी दूसरी जगह सेक्स करें। अपने पार्टनर को सेक्स के पहले फोरप्ले में ज़्यादा समय व्यतीत करने को कहें। यदि आप और आपके पार्टनर नए प्रयोगों से नहीं डरते तो सेक्स खिलौने और फैंटासी से आपकी सेक्स इच्छा प्रज्ज्वलित हो सकती है।
  • बुरी आदतें छोड़ दें। सिग्रेट पीना, ड्रग्स लेना और ज़्यादा शराब पीने से आपकी सेक्स इच्छा कम हो सकती है। इन बुरी आदतों का त्याग कर देने से आपकी सेक्स इच्छा बहुत बढ़ सकती है और आपका स्वास्थ्य भी बेहतर हो सकता है।

वैकल्पिक दवा

कुछ महिलाओं को अपनी डॉक्टर से सेक्स इच्छा कम होने के बारे में बात करने में कठिनाई महसूस हो सकती है। इसलिए कुछ महिलाएं दवा की दुकानों पर मिलने वाले हर्बल सप्लिमेंट लेती हैं। लेकिन एफ़डीए ऐसे उत्पादों को नियंत्रित नहीं करता, और कई मामलों में इन पर पूरे शोध भी नहीं किए गए जाते। हर्बल सप्लिमेंट के ऐसे साइड-इफ़ेक्ट हो सकते हैं या वे आपकी दवाइयों से रिएक्शन कर सकते हैं। जो भी हो, इन्हें उपयोग करने से पहले अपनी डॉक्टर से बात जरूर करें।

एक हर्बल सप्लिमेंट है जिसका नाम है Avlimil। इस प्रोडक्ट के शरीर पर एस्ट्रोजन-जैसे प्रभाव पड़ते हैं। एस्ट्रोजन से आपकी सेक्स इच्छा तो बढ़ सकती है लेकिन इससे कुछ प्रकार के स्तन-कैंसर भी हो सकते हैं।

एक और उपाय है Zestra नाम का बॉटनिकल मसाज ऑइल। इसे योनि की क्लिटोरिस, लाबिया और योनि में लगाया जाता है। एक छोटे से अध्ययन में पाया गया कि Zestra ने उत्तेजना और आनंद बढ़ा दिया था। इसका बस एक ही साइड-इफ़ेक्ट पाया गया, जो थी जननांगों में हल्की जलन।

इसका सामना करना और मदद

सेक्स इच्छा कम होना आप और आपके पार्टनर, दोनों के लिए बहुत मुश्किलें खड़ी कर सकता है। यदि आप अपनी इच्छा अनुसार – या पहले जैसी सेक्सी और रोमांटिक न बन पाएँ तो दुखी होना स्वाभाविक है।

साथ ही, सेक्स इच्छा की कमी से आपके पार्टनर को लग सकता है कि आप उसे अस्वीकार कर रही हैं, जिससे मनमुटाव और घर्षण हो सकता है। रिश्तों में इस तरह की खटास से सेक्स इच्छा और कम हो सकती है।

यह याद रखें कि सेक्स इच्छा में उतार-चढ़ाव जीवन के हर पड़ाव पर हर रिश्ते में आते हैं। अपना पूरा ध्यान सेक्स पर न लगाएँ, कुछ समय अपने-आप और अपने रिश्ते की बेहतरी में भी दें।

लंबी सैर पर जाएँ। थोड़ा ज़्यादा सोएँ। अपने पार्टनर को बाहर जाने से पहले किस करें। अपनी सबसे पसंदीदा जगह पर साथ में खाना खाने जाएँ। अपने और अपने पार्टनर के बारे में अच्छा मशसूस करना सेक्स की सबसे अच्छी तैयारी होता है।

अपने एपोइंटमेंट की तैयारी करना

जनरल डॉक्टर ओर गायनेकोलॉजिस्ट कई बार रूटीन में दिखाने पर भी सेक्स से संबन्धित प्रश्न पूछते हैं। इस मौके का उपयोग करके अपनी सेक्स चिंताओं की चर्चा करें।

यदि आपकी डॉक्टर खुद इसकी बात न छेड़ें तो खुद यह चर्चा शुरू करें। हो सकता है आपको अपनी डॉक्टर से सेक्स संबंधी बातें करने में शर्म लगे, लेकिन इसमें कुछ भी गलत नहीं है। वास्तव में तो आपकी सेक्स संतुष्टि स्वास्थ्य के लिए बहुत लाभदायक होती है।

आप क्या कर सकती हैं

अपनी डॉक्टर से यह सलाह-मशविरा करने की तैयारी के लिए:

  • अपनी सेक्स समस्याएँ नोट कर लें, इसमें यह भी लिखें कि आपको ये कब और कितनी बार होती हैं।
  • प्रमुख मेडिकल जानकारी की लिस्ट बना लें, जिसमें ऐसे विकार भी शामिल हों जिनका इलाज चल रहा है, और आप जो भी दवाएँ, विटामिन या सप्लिमेंट ले रहे हों, उनके नाम।
  • अपनी डॉक्टर से प्रश्न पूछने के बारे में विचार करें और उन्हें लिख लें। अपनी कॉपी और पेन साथ ले जाएँ और आपके सवालों के डॉक्टर द्वारा दिए जबाब नोट करती जाएँ।

अपनी डॉक्टर से पूछे जाने वाले कुछ आधारभूत प्रश्न हैं:

  •  मुझे ये समस्या क्यों हो रही है?
  •  क्या मैं अपनी पहले जैसी सेक्स इच्छा वापस प्राप्त कर सकूँगी?
  •  मुझे मेरी स्थिति ठीक करने के लिए जीवनशैली में क्या बदलाव करने चाहिए?
  •  कौन से इलाज उपलब्ध हैं?
  •  आप कौन सी किताबें या सामग्री पढ़ने की सलाह देंगी?

आपकी डॉक्टर कौन से प्रश्न पूछ सकती हैं

आपकी डॉक्टर आपके लक्षणों के बारे में प्रश्न पूछ कर आपकी हॉरमोनल अवस्था की जाँच कर सकती हैं। आपकी डॉक्टर के प्रश्नों में निम्नलिखित शामिल हो सकते हैं:

  •  क्या आपकी सेक्स को लेकर चिंताएँ हैं?
  •  क्या सेक्स में आपकी दिलचस्पी बदल गई है?
  •  क्या आपको उत्तेजित होने में कठिनाई होती है?
  •  क्या आपको योनि में सूखापन महसूस होता है?
  •  क्या आपको चरम सुख (ओरगाज़्म) मिल पाता है?
  •  क्या आपको सेक्स के दौरान कोई दर्द या असुविधा होती है?
  •  सेक्स चिंताओं के कारण आपको कितना तनाव होता है?
  •  आपको ये समस्याएँ कब से हैं?
  •  क्या आपका मासिक धर्म अभी भी जारी है?
  •  क्या आपका कभी कैंसर संबंधी इलाज किया गया है?
  •  क्या आपकी कभी गायनोकॉलॉजिकल सर्जरी की गई है?

Comments

(0 Comments)

Your email address will not be published. Required fields are marked *