28 कारक जिनसे शीघ्रपतन होता है। समस्या के हल

Table of Contents

About Dr. Nagender Kumar

Urologist, Sex counselor

सभी कारक

ये रहे 28 कारक जिनसे शीघ्रपतन होता है:

  1. जल्द से जल्द चरम सुख पाने की अनैच्छिक प्रतिक्रिया, जो कम उम्र में विकसित होती है;
  2. असफल होने का आसक्त भय;
  3. चिंता और पिछली असफलताओं के कारण आत्म-विश्वास की कमी;
  4. नया सेक्स रिश्ता;
  5. संक्रामक रोग;
  6. स्पाइनल हर्निया या कमर के निचले हिस्से में चोटें;
  7. लिंग की अतिसंवेदनशीलता;
  8. नर्वस डिसोर्डर और तनाव;
  9. हॉरमोनल गड़बड़ियाँ, टेस्टोस्टेरोन की कमी;
  10. विषैले पदार्थों या एंटीडिप्रेसेंट्स के कारण विषाक्तता;
  11. ज़्यादा शराब पीना;
  12. नियमित सेक्स पार्टनर न होना, अनियमित सेक्स;
  13. कमजोर स्तंभन से बहुत जल्दी अनैच्छिक पतन हो जाता है;
  14. माहौल ठीक न होना;
  15. पर्याप्त समय न होना, जल्दी में;
  16. मज़ाक उड़ने का डर;
  17. पार्टनर का संभोग के दौरान बहुत चिल्लाना और आहें भरना;
  18. फ्रेनुलम का छोटा होना;
  19. पार्टनरों के बीच तनाव;
  20. यह मानना कि सेक्स अनैतिक और गंदा होता है;
  21. संक्रामक रोग होने का डर;
  22. शीघ्रपतन होने की संभावना के बारे में सोचते रहना;
  23. पार्टनर के गर्भवती हो जाने का डर;
  24. नितंबों और श्रोणि की मसल्स का कमजोर होना;
  25. ज़ोर से और तेज झटके;
  26. सेक्स पोजीशन ठीक न होना;
  27. साँस फूलना, बार-बार और तेजी से साँस लेना;
  28. लिंग पर ही ध्यान लगाए रखना।

 

आसान शब्दों में कहें तो शीघ्रपतन के कारणों को मुख्य रूप से दो कारकों में विभाजित किया जा सकता है:

  • शारीरिक;
  • मनोवैज्ञानिक।

समस्या के प्रकार के आधार पर आपको या तो किसी मूत्र रोग विशेषज्ञ या सेक्सोलॉजिस्ट से सलाह लेनी चाहिए।

जो भी मामला हो, आपको खुद ही समस्या का हल करने की सोच के साथ शुरू करना चाहिए। हम यह सलाह नहीं देते कि आप डॉक्टर की सलाह लिए बिना खुद ही दवाइयाँ या हॉरमोन लेने लगें। हम केवल उन तरीकों पर नज़र डालेंगे जिनके कोई स्वास्थ्य जोखिम नहीं हैं और जो घर पर ही उपयोग किए जा सकते हैं।

समस्या हल करने के 18 तरीके

 

1. कोई रिलैक्स सेक्स पोजीशन चुनें

काऊगर्ल पोजीशन। आदमी पीठ के बल लेट जाता है, औरत उसकी ओर मुँह करके बैठती है। यह सबसे सुरक्षित पोजीशन होती है क्योंकि आपका पेट रिलैक्स होता है। हल्की गति से करें और अपनी पार्टनर को सहलाना न भूलें।

 

2. बाथरूम में खास एक्सर्साइज़ करें

पेशाब करते हुए कुछ देर के लिए रुक जाएँ और फिर से चालू कर दें। इस एक्सर्साइज़ को रोज दो बार करें। इस तरह आप अपनी प्यूबोकोसीजियस मसल का उपयोग करना सीख जाएंगे। जब भी आपको अपने चरम सुख का समय बढ़ाना हो, इस मसल को भींच लें। ये एक्सर्साइज़ एनुरेसिस (बिस्तर में पेशाब की समस्या) के लिए भी अच्छी होती है)।

हमारे पाठकों के लिए फास्ट शिपिंग ऑफर:

  • पहला-दूसरा हफ्ता:
  • आपका खड़ापन लंबे समय तक चलेगा और उसकी सख्ती भी बढ़ जाएगी लिंग की संवेदना दो गुना बढ़ जाएगी पहले बदलाव लिंग की लंबाई 1.5 सेमी बढ़ जाने के साथ दिखेंगे1
  • दूसरा-तीसरा हफ़्ता:
  • आपका लिंग बड़ा दिखने लगेगा और उसका शेप भी सटीक हो जाएगा संभोग की अवधि 70% बढ़ जाएगी!2
  • चौथा हफ्ता और इसके बाद:
  • आपका लिंग 4 सेमी लंबा हो जाएगा! सेक्स की गुणवत्ता काफी अच्छी हो जाएगी और संभोग में चरम सुख जल्दी मिलेगा तथा 5-7 मिनट तक चलेगा!

3. रिलैक्स करें

सेक्स में लंबे समय तक टिके रहने के लिए रिलैक्स करना बहुत जरूरी होता है। अपने पेट, नितंबों, हाथों और कंधों को रिलैक्स करने की कोशिश करें।

 

4. अपनी श्रोणि सतह की मसल्स को ट्रेन करें।

मसल्स को रिलैक्स करने के लिए बिस्तर पर शांत पड़े रहने की अवस्था से बचने के लिए मसल्स को जिम में ट्रेन करें।

श्रोणि और नितंबों की मजबूत मसल्स से स्टैमिना बढ़ता है और यही सफलता की कुंजी हैं।

इन एक्सर्साइज़ को करें:

पेट पर लेट कर अपने हाथों को आगे खींचें। साथ ही अपने हाथों और पैरों को ऊपर उठाने की कोशिश करें। इस पोजीशन को करीब 3-4 सेकंड के लिए रोके रखें, फिर अपने हाथ-पैर नीचे कर लें। 3-4 सेकंड के लिए रुकें। इस एक्सर्साइज़ को करीब 4 मिनट तक करें।

 

5. अपनी साँस पर ध्यान केन्द्रित करें। उचित श्वसन तकनीक अपनाएं

आम गलतियाँ:

  • ज़ोर-ज़ोर से साँस लेना
  • ऊपरी सीने से साँस लेना।

यदि आप तेज हल्की साँसें ले रहे हैं तो यह इस बात का संकेत है कि आपके शरीर में ऑक्सिजन कम हो रही है। आपका शरीर इसे चेतावनी के एक संकेत के रूप में लेता है और सिम्पेथेटिक नर्वस सिस्टम को चालू कर देता है जिससे पतन नियंत्रित होता है। इसका नतीजा यह होता है कि आपको शांत करने के लिए शरीर तुरंत पतन करके तनाव कम कर देता है।

साँस कैसे लें

अपने सीने की जगह अपने पेट से आराम से गहरी साँसें लें।

 

6. इसका खुद अभ्यास करें

अपने लिंग को हल्के-हल्के सहलाएँ और जब झड़ने लगे तो रुक जाएँ और लिंग से हाथ हटा कर उत्तेजना कम होने दें। साथ ही अपनी प्यूबोकोसीजियस मसल्स को भींचें।

 

7. अपने नितंबों का व्यायाम करें

क्लासिक स्क्वाट और ब्रिजिंग कुछ ऐसी आम एक्सर्साइजें हैं जिनसे ग्लूटील (नितंबों की मसल) मजबूत होती हैं।

 

8. परंपरागत तरीके

शीघ्रपतन रोकने के आधुनिक तरीके उपलब्ध होने के बावजूद परंपरागत तरीके आज भी बहुत लोकप्रिय हैं।

सेलेरी की जड़ का रस। दिन में तीन बार 1 चम्मच रस लें।

पपीते के बीज। इन बीजों से स्तंभन क्रिया अच्छी होती है क्योंकि इनमें प्रचुर मात्रा में ज़िंक होता है। रोज 25 पपीते के बीज खाएँ।

 

9. मेडिकल तरीका

टेस्टोस्टेरोन उत्पादन बढ़ाने के लिए फूड सप्लिमेंट्स लें। पुरुषों के इस हॉरमोन का स्तर अच्छा होने से सेक्स दम-खम बढ़ता है और आप बिस्तर में लंबे टिके रह सकते हैं। उदाहरण के लिए Hammer of Thor मर्दानगी बढ़ाने के लिए एक नैचुरल सप्लिमेंट है।

 

10. उसके चरम सुख के लिए इंतज़ार करें

एक स्वस्थ नज़रिया विकसित करें। याद रखें: सेक्स में दोनों पार्टनरों को आनंद आना चाहिए। शीघ्रपतन को ठीक करने का यह एक मुख्य कारण है। यदि आप इसे अपने जहन में रखेंगे तो संभोग की अवधि बढ़ाना बहुत आसान होगा।

 

11. शुरुआत से ही बीच में रुकें

पहले झटके के बाद रुकें और थोड़ा इंतज़ार करते हुए अपनी उत्तेजना देखें। इससे आपकी दो समस्याएँ हल हो जाएंगी, एक आपकी गति सेट हो जाएगी और दूसरा, आपकी पार्टनर की की उत्तेजना बढ़ जाएगी। यदि आपको लगता है कि अब आप झड़ने से नहीं रोक पाएंगे तो लिंग को बाहर निकाल कर फिर से इंतज़ार करें। लेकिन अपनी पार्टनर से ध्यान न हटाएँ। जब आप रुके हों तो उसे किसी न किसी तरह से सहलाते रहें। जब जरूरत हो तो दोबारा रुकें।

 

12. अपना ध्यान बटाएँ

अपने मन में ऐसे विचार लाएँ तो सेक्स से संबन्धित न हों। पिछले रविवार या ऑफिस की बातें सोचें। ऐसा बहुत ज़्यादा न करें नहीं तो आपकी सेक्स उत्तेजना पूरी खत्म हो जाएगी।

 

13. लड़की के शरीर को न घूरें

सबसे पहली चीज तो यह है कि लड़कियों को यह बिल्कुल अच्छा नहीं लगता। यदि आपकी पार्टनर बहुत सुंदर है तब भी उसे यह पसंद नहीं आएगा।

दूसरा, इससे जोश बढ़ता है। लेकिन अपनी पार्टनर से नज़र हटाकर दीवार को ही घूरते रहना भी ठीक नहीं होगा। उसके बालों, कानों को देखें या बस अपनी आँखें बंद कर लें। आप उससे अपनी आँखों पर पट्टी बांधने के लिए भी कह सकते हैं।

 

14. अपनी श्रोणि को सक्रिय बनाए रखें

जो लोग कंप्यूटर पर बहुत काम करते हैं या ड्राइविंग करते हैं, उनके लिए यह बहुत जरूरी है। उदाहरण: जॉगिंग, स्विमिंग या क्रॉसफिट।

 

15. अपनी पार्टनर से अपनी दिक्कतों की चर्चा करें

उसे बताएँ कि आप इस दिक्कत के लिए सिर्फ उस पर ही भरोसा कर सकते हैं और आप चाहते हैं कि उसे भी पूरा सुख मिले। इससे उसे बहुत अच्छा लगेगा और उसे पता होगा कि सेक्स से क्या उम्मीद की जाए। वैसे यह भी बता दें कि हर औरत को दो घंटे के मैराथन सेक्स की जरूरत नहीं होती। एक मजेदार फोरप्ले सेशन बिना रुके सीधे घुसा देने से कहीं ज़्यादा महत्वपूर्ण होता है।

 

16. उसे अपने अनुरोध मानने के लिए कहें

आपका उद्देश्य यह होना चाहिए कि आप दोनों बिस्तर में एक तालमेल स्थापित कर सकें। हो सकता है आपकी पार्टनर को यह समझ न आए कि आप बीच-बीच में क्यों रुक जाते हैं। अपनी गर्लफ्रेंड को पूरी बात बताएँ और उसे समझाएँ कि आपके कहने पर रुकना क्यों जरूरी है। आप उसे बता सकते हैं कि आप उसे अपने शरीर से कैसे इशारे देंगे। यह बहुत जरूरी है कि उसे यह समझ आए कि सेक्स में क्या चल रहा है और उसे क्या करना चाहिए (और क्या नहीं करना चाहिए)।

 

17. दोबारा कोशिश करें

हर कोई नियमित रूप से सेक्स नहीं कर पाता। जब आप लंबे समय के बाद सेक्स कर रहें तो इसका एक खास तरीका होता है। दूसरी बार कोशिश करें। मतलब आप थोड़े समय सेक्स करके फिर से कोशिश कर सकते हैं।

आप डेट पर जाने के पहले हस्तमैथुन भी कर सकते हैं। इसका भी यही प्रभाव होता है। लंबे समय के बाद दूसरा संभोग कहीं लंबा चलेगा।

 

18. अपना ध्यान शरीर के दूसरे अंगों पर केन्द्रित करें

आप ये चीजें कर सकते हैं:

  • लिंग के अलावा अपने शरीर के किसी और हिस्से पर चिकोटी काटें (पेट के ऊपर);
  • अपनी गर्लफ्रेंड के कान को काटें;
  • अपनी पार्टनर को आपकी पीठ पर मसाज करने को कहें;
  • अपनी पार्टनर को अपने सीने को छूने को कहें, आदि।

आप अपना ध्यान बांटने के खुद के दूसरे तरीके भी सोच सकते हैं।

Comments

(0 Comments)

Your email address will not be published. Required fields are marked *