आपको अभूतपूर्व सर्वश्रेष्ठ आनंद देने के लिए १० अनफ़िल्टर्ड सम्भोग सलाह

About Dr. Nagender Kumar

Urologist, Sex counselor

१. उसे बताइए कि किस चीज़ से आपकी उत्तेजना जागती है

शोध ऐसा बताते हैं कि अच्छा संवाद अच्छे सम्भोग की कुंजी होती है, और इससे हमारा मतलब गंदी बातों से एकदम नहीं है.जब आप एक दूसरे के शरीर को जानने की प्रक्रिया में हो ऐसे में अपनी पसंद-नापसंद के बारे में एक दूसरे को बताना निर्देशपूर्ण तथा जानकारीपरक हो सकता है. अगर आपको कुछ अच्छा लगने वाली चीज़ वो कर रहा है तो उसको सीधे ऐसा बता दीजिए न कि अनेकार्थक इशारों अथवा आहों पर निर्भर रहिए. और अगर कुछ ऐसी बात होती है जो आपको अच्छी नहीं लगती तो ये उसे बताइए या नयी दिशा के लिए निर्देश दीजिए. कोई अलग एंगल आज़माना चाहती हैं? तो उसकी सलाह दीजिए. अगर आपको एक के बाद एक ऑर्गैज़म चाहिए और आप ऑर्गैज़म के क़रीब हैं, तो इस बारे में चुप मत रहिए.

२. तारीफ़ की ताक़त को कम मत समझिए

२०१६ में सम्भोग अध्ययन पत्रिका में एक अध्ययन प्रकाशित हुआ था, जिसमें शोधकर्ताओं ने शादीशुदा अथवा साथ रह रहे ३९,००० विषमलैंगिक जोड़ों के सवालों का अध्ययन किया था. इनमें से सम्भोग संतुष्टि उन जोड़ों में ज़्यादा थी जिन्होंने सम्भोग के दौरान सकारात्मक बातें कहीं और जो शर्मनाक क्षणों को हँसी-मज़ाक़ में ही आया-गया कर देते थे. डॉ. अनुराग कहते हैं कि सम्भोग के लिए खुले दिल वाला दृष्टिकोण ही कुंजी है, वो बताते हैं कि. “ज़िंदगी को बहुत अधिक गम्भीरता से मत लीजिए. सुखी जोड़े अकसर साथ मिलकर हँसी-मज़ाक़ करते हैं.”

“अगर वो कुछ ऐसा कर रहा है जो आपको पसंद है, तो अनेकार्थी इशारों अथवा आहों पर निर्भर न रहते हुए सीधे बोल डालिए. ”

३. चीज़ों को सहज रखिए

अगर एक ही समय पर बार-बार किया जाए तो शानदार सम्भोग भी कुछ समय के बाद नीरस लगने लगता है. चीज़ों को ठीक राह पर लाने के लिए मारी क्लेयर के विशेषज्ञ पवन मिश्रा का कहना है कि “अगर आप किसी के साथ बिस्तर में हैं और आपको अहसास है कि आपके पास कोई नयी चीज़ है, कुछ लुभावना सा, पोज में कोई बदलाव या कुछ भी और… जिससे आपके साथी को आनंद का अहसास हो सकता है, तो वो चुपचाप कर दीजिए. मर्दों को अच्छा लगता है जब महिलाएँ बिस्तर में अपने कौशल में सहज और आत्मविश्वासी होती हैं.”

डॉ. अनुराग इसे बस सप्ताह का एक “दिनचर्या-सम्भोग” बनने से बचाने के लिए सप्ताह में एक बार समय और जगह बदलने की सलाह देते हैं. “सम्भोग के लिए नयी जगहें आज़माइए, शायद सोफ़ा, कार में या किचन की पटिया पर? या कैसा रहेगा मूवी थिएटर की पिछली पंक्ति में? हालाँकि सावधान रहिए क्योंकि सार्वजनिक जगहों पर सम्भोग करना ग़ैर क़ानूनी है. रोल-प्ले करने की कोशिश कीजिए… साथ में नहाइए. खोजी बनिए, मजा मारिए.”

More about XTRA-MAN

४. फ़ोरप्ले को लम्बी क्रिया बनाइए

अनुराग का कहना है कि सम्भोग के लिए मूड बनाना बहुत ही आवश्यक होता है, ख़ास तौर पर महिलाओं के लिए, साथ ही फ़ोरप्ले सम्भोग शुरू होने के पहले से ही शुरू हो जाना चाहिए: “मेरा तात्पर्य उस मानसिक फ़ोरप्ले से है जो सम्भोग होने के भी कई दिनों पहले शुरू हो जाता है न कि सम्भोग से ठीक पहले होने वाला फ़ोरप्ले. सुनिश्चित कीजिए कि आप अपने साथी की तरफ़ ध्यान दे रहे हैं. छोटी-छोटी सी हरकतें और तारीफ़ रात में सम्भोग के लिए मूड बनाने के लिए आवश्यक होती हैं.” वो ये भी कहते हैं कि दिन के दौरान टेक्स्ट मैसेज या ईमेल के द्वारा सम्पर्क बनाए रखना चाहिए.

५. कसरत कीजिए और डी (विटामिन डी) को कम समय मत दीजिए

अगर किसी व्यक्ति को विटामिन डी की ताक़त पर शक होता है तो ऐसी बहुत अधिक सम्भावना होती है कि इसी साल बीती क्लास पास सदस्यता से उसके सम्भोग जीवन पर असर पड़ रहा है. “कसरत शरीर में रक्त का संचार सुधारती है, और इसमें आपके लिंग आदि हिस्सों का प्रवाह भी शामिल है, जिसके परिणामस्वरूप इच्छा में बृद्धि हो जाती है और आपका मूड भी बन जाता है.” हमें पूर्ण विश्वास है कि उन एंडोर्फ़िंस से आपको कोई नुक़सान नहीं होता है.

और शहर में रहने वाले उन लोगों का क्या जिनमें विटामिन डी की कमी हो जाती है? “गर्मियों के दौरान भी हमें पर्याप्त विटामिन डी नहीं मिल पाती है क्योंकि हम त्वचा कैन्सर तथा समय से पूर्व बुढ़ापा लाने वाली यूवी किरणों से डरते हैं,” पर साथ ही डॉ. अनुराग कहते हैं कि “भले ही सूर्य की किरणों से त्वचा के बहुत अधिक सम्पर्क से त्वचा को क्षति पहुँचती है, पर विटामिन डी महिलाओं में एस्ट्रोजन तथा मर्दों में टेस्टास्टरोन उत्पादन के लिए आवश्यक होती है. इससे आपका सम्भोग समय बढ़ता है, इसलिए अगर आपको गर्मियों में बहुत रंगीला महसूस होता है तो इसका कारण यही है.” बसंत के बुखार के ज्वलंत सवाल का जवाब मिल गया? हमें तो ऐसा ही लगता है.

६. सुबह या दोपहर के दौरान सम्भोग कीजिए

डॉ. अनुराग अपनी नयी किताब में कहते हैं कि जोड़ों की इच्छा में सही मिलान न होने का कारण उनके द्वारा हफ़्ते भर तनाव को झेलने का तरीक़ा है. उनका कहना है कि मर्द सम्भोग को तनाव कम करने के तरीक़े के रूप में देखते हैं वहीं औरत तब सम्भोग करती हैं जब वो तनाव ख़त्म कर चुकी होती हैं. परिणामस्वरूप महिलाएँ जब सोने जाती हैं तो थकी होती हैं, और उनके दिमाग़ में अगले दिन की तैयारी होती है.

इसका समाधान? “अच्छा विकल्प सुबह के दौरान सम्भोग करना है. अपने अलार्म को उठने से ३० मिनट पहले लगाइए और देखिए कैसे जादू होता है. सुबह के दौरान मर्दों में टेस्टास्टरोन का स्तर बहुत उच्च होता है तो आपको एक अप्रत्याशित सुखद अनुभव भी हो सकता है… दूसरा तरीक़ा सप्ताहांत के दौरान दोपहर में सम्भोग करना हो सकता है. और भी अधिक रुचिकर बात ये है कि महिलाएँ दोपहर के दौरान अंडोत्सर्जन करती हैं, इसका तात्पर्य हुआ कि संभोग की इच्छा के लिए महिलाओं के हॉर्मोन्स का उचित स्तर उसी समय होता है.”

“मर्द सम्भोग को तनाव कम करने की क्रिया के रूप में देखते हैं वहीं महिलाएँ तब सम्भोग करना चाहती हैं जब उन्हें तनाव से छुटकारा मिल गया हो.”

७. अपने शब्दकोश को बढ़ाइए

लोग अश्लील मज़ाक़ की ताक़त को अनदेखा कर देते हैं पर ये गम्भीर मूड इन्हेंसर हो सकती है, ख़ास तौर पर जब आप बात बनाने के चक्कर में हों. पर ऐसा करना अक्सर उन लोगों के लिए कठिन होता है जो 50 शेड्सएस्क फेंटेसीज जैसी बातें बोलने के आदी नहीं होते हैं. रागिनी कहती हैं कि “मेरे ग्राहकों को सबसे अधिक फ़ायदा तब होता है जब वे किसी किताब की दुकान पर या ऑनलाइन जाकर इरोटिक किताब ढूँढते हैं.” वे कहती हैं कि जोड़ों को इरोटिक किताबें साथ पढ़नी चाहिए, ख़ास तौर पर अगर वो “गंदी बातों” के शब्दकोश में विकास करना चाहते हैं, जिससे उन्हें बिना शर्म महसूस किए मौखिक इशारे मिल जाते हैं. स्क्रिप्ट पढ़ना कभी भी उतना कारगर नहीं होता है जितना अगर जोड़े को कोई ऐसी किताब मिल जाए जो कि वे वाक़ई साथ में पढ़ना पसंद करते हैं; और उस शब्दजाल से वे अपना शब्दकोश बढ़ा सकते हैं.

८. खिलौनों और अन्य सामान से खेलिए

एक तरीक़ा जिसमें रागिनी लम्बे समय से बंधन में बँधे जोड़ों को, सम्भोग अनुभव को अनदेखे पहलुओं से बढ़ाने की सलाह देती है वो है सम्भोग सम्बंधित खिलौनों और अन्य सामान की साथ ख़रीदारी करके. इसका तात्पर्य कपल वाइब्रेटर्ज़ (वो रिमोट संचालित फिएरा की सलाह देती हैं) से लेकर, मसाज तेल, बॉडी पेंट तथा आँख बाँधने वाली पट्टी तक कोई भी सामान है, हालाँकि रागिनी का कहना है कि सीन बनाने का एक और तरीक़ा सेक्सी बैकग्राउंड नोइज के रूप में संगीत को चलाना है. “मसाज को अपने रूटीन का हिस्सा बना लीजिए और एक-दूसरे को छूना शुरू कीजिए. बहुत सारे जोड़े इसके बाद अपने सम्भोग समय में बृद्धि महसूस करने लगते हैं,” वो ऐसा कहती हैं.

९. साथ-साथ काम कीजिए

निसंदेह ये बहुत ही मामूली सा महसूस हो रहा होगा पर सच ये है कि घर का काम साथ करने से न केवल आपके साथी को बर्तनों के ढेर पर कम समय बिताना होगा बल्कि साथ में संतुष्टिजनक सम्भोग करने में भी सहायता होगी. विवाह एवं परिवार पत्रिका में छपे२०१६ के एक अध्ययन के अनुसार घर के काम में हाथ बटाने से “अच्छी उत्तेजना” को बल मिलता है, जिसमें दोनो ही व्यक्ति अपने हिस्से के वे काम करते हैं जो कि केवल महिलाओं के लिए निर्धारित होते हैं. वैज्ञानिक अध्ययनों से पता चलता है कि जो जोड़े खाना पकाने और सफ़ाई करने में हाथ बटाते हैं वे बिस्तर में और भी अधिक कामुक होते हैं?अब इससे और अधिक क्या कहें.

१०. संख्या से ज़्यादा गुणवत्ता पर ध्यान दीजिए

इसका कोई सिद्ध नियम नहीं है पर एक हालिया अध्ययन से पता चला है कि अधिक सम्भोग का मतलब अच्छा सम्भोग नहीं होता और ख़ुश जोड़े सप्ताह में केवल एक बार सम्भोग करते हैं. इसलिए अगर आप अपने बारे में उत्साहित रहते हैं और अपने साथी को हमेशा ही नहीं परेशान करते रहते हैं तो यह इस बात का सबूत है कि जितनी ज़्यादा ताक़त आप साप्ताहिक सम्भोग को *अच्छा* बनाने में लगा रहे हैं उसका फल आपको भविष्य में अवश्य मिलेगा.

 

ORDER NOW AND GET -50% DISCOUNT

Comments

(0 Comments)

Your email address will not be published. Required fields are marked *