सेक्स एजुकेशन: भारतीय पुरुषों के लिए ५ शीर्ष शुरुआती सेक्स टिप्स

About Dr. Nagender Kumar

Urologist, Sex counselor

सेक्स और जीवन के बारे में कुछ बुनियादी तथ्य जो हर भारतीय व्यक्ति को जानने चाहिए!
हमें हमारे प्रश्नोत्तर अनुभाग में बहुत सारे प्रश्न मिलते हैं, जिनमें से अधिकतर प्रश्नों को प्राथमिक स्तर पर ही हल कर लिया जाना चाहिए था. वे सामान्य प्रश्नों से लेकर तरह-तरह के विचित्र प्रश्न भी होते हैं. इसलिए हम कुछ बुनियादी सेक्स-संबंधी प्रश्नों का उत्तर देकर, हमारे देश में यौन शिक्षा की कमी को दूर करने की कोशिश कर रहे हैं:

केवल अच्छे से योनि में लिंग को डालकर सेक्स करने से ही एक लड़की गर्भवती हो सकती है!

हमें ऐसे बहुत से प्रश्न आते हैं जिनमें पूछते हैं कि कोई लड़की कैसे गर्भवती हो सकती है. हमारे एक साथी तो इसलिए चिंतित था कि उसकी बहन के कपड़ों के साथ उसके कपडे धोने से उसकी बहन गर्भवती हो सकती है. तो असल बात यह है कि आपका शुक्राणु कोई सुपर शुक्राणु नहीं है, इसलिए यह बाहर नहीं रह सकता है या न ही उड़कर किसी लड़की को गर्भवती कर सकता है. चुंबन करना, गले लगाना, मुंह से सेक्स करना, फोरप्ले करना आदि ऐसी गतिविधियां हैं जो आपको पिताजी नहीं बना सकती हैं!

सेक्स में लिंग के अलावा और भी बहुत कुछ होता है

हम नहीं जानते कि क्या इस के लिए पोर्न इंडस्ट्री जिम्मेदार है लेकिन पूरी की पूरी मर्दों की आबादी इस धारणा के तहत रहती है कि चुदाई बस लंड से शुरू होती है और लंड पर ही खत्म हो जाती है. और वे गंभीरता से इसके बारे में चिंता भी करते हैं, परेशान रहते हैं कि उनका लंड या तो बहुत छोटा या पतला या तिरछा है या किसी अन्य कमी से घिरा हुआ है जिससे वे कभी भी अच्छे प्रेमी नहीं बन पाएंगे. पुरुषों के स्वास्थ्य चिकित्सक और मेडिकल सेक्स थेरेपिस्ट, डॉ विजयसारथी रामनाथन कहते हैं: ‘इस बात का दोष केवल और केवल पोर्न को जाता है कि लोग मानते हैं कि चुदाई में योनि संभोग के अलावा और कुछ भी नहीं होता है. यहां पर आउटरकोर्स एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है. ‘ आउटरकोर्स एक बड़ा पारिभाषिक शब्द है जो कि लंड को चूत में डालने के अलावा सेक्स की सभी प्रक्रियाओं को संदर्भित करता है जिसमें चुंबन, फोरप्ले, मुंह से सेक्स, पारस्परिक हस्तमैथुन, गर्दन चाटना, ड्राई हम्पिंग, रगड़ना, मालिश करना, स्तन से सम्भोग करना आदि; इसमें इसके अलावा और भी बहुत कुछ शामिल होता है.

कंडोम का ठीक तरह से इस्तेमाल किया जाना चाहिए

प्रत्येक युवा लड़के को पता होता है कि कंडोम से एचआईवी / एड्स और अवांछित गर्भधारण को रोकने में मदद मिलती है, लेकिन कुछ ही विज्ञापन हैं जो बताते हैं कि कंडोम का इस्तेमाल कैसे किया जाना चाहिए. जब सही तरीके से कंडोम का उपयोग किया जाता है, तो कंडोम की सफलता दर ९८% तक हो जाती है, लेकिन इसका अनुचित उपयोग बहुत ही प्रचलन में है. सामान्य गलतियों में जैसे पैकेजिंग को गलत तरीके से फाड़ना, इसे सही तरीके से खोल न पाना, इसे गलत तरीके से पहनना, गलत प्रकार के लुब्रिकेंट्स के साथ इसका उपयोग करना और बहुत देरी से निकालना आदि. पढ़ें. कंडोम का सही तरीके से उपयोग कैसे करें

क्या हस्तमैथुन करना ठीक है?

हमें हस्तमैथुन के बारे में बहुत सी बातें बताई गई हैं और उनमें से कोई भी सच नहीं है. हम इस बात को जोरों से कहते हैं; गलत धारणाओं में शामिल कुछ धारणाएं यूँ हैं:

  • कोई व्यक्ति कमजोर हो जाता है
  • अंधापन का कारण बनता है
  • हथेली के पीछे बाल निकल आते हैं (अगर ऐसा होता तो फिर तो यह एक अच्छे व्यवसाय का आधार बन सकता है)
  • मानसिक स्वास्थ्य समस्याओं का कारण बनता है
  • बांझपन या नपुंसकता का कारण बनता है
  • शुक्राणुओं की कमी का कारण बनता है

इस प्रक्रिया के बारे में हमने असंख्य गलत धारणाओं के बारे सुना है. सच में तो, हस्तमैथुन सिर्फ सेक्स का अनुकरण ही तो है और इसमें कुछ भी गलत नहीं है.
कौमार्यता का होना कोई बड़ी बात नहीं है.

हम बहुत ही दिलचस्प समय में रहते हैं.

जहाँ एक लड़के का शादी से पहले बाहर निकलना और मज़ा लेना ठीक होता है, लेकिन जीवन साथी को चुनते समय, बहुत सारे भारतीय लोग कुंवारी लड़की से ही शादी करना पसंद करेंगे. यह तो केवल पाखंड की एक झलक ही है, यह बेवकूफी भरा भी है, जैसे कि आप एक रेस्तरां में जायें और कहें: ‘मैं उस आदमी द्वारा बनाये गये पकवान चाहता हूं जिसने आज से पहले कभी भी न पकाया हो.’ और सच में, लोगों को इस धारणा से भी छुटकारा पा लेना चाहिए कि एक सजी हाइमन कौमार्यता का संकेत होती है. हाइमन को टूटने में ज्यादा कुछ नहीं लगता है, और इस बात को बताने का कोई भी तरीका नहीं है कि कोई लड़की कुंवारी है या नहीं.

हमारे पाठकों के लिए फास्ट शिपिंग ऑफर:

  • पहला-दूसरा हफ्ता:
  • आपका खड़ापन लंबे समय तक चलेगा और उसकी सख्ती भी बढ़ जाएगी लिंग की संवेदना दो गुना बढ़ जाएगी पहले बदलाव लिंग की लंबाई 1.5 सेमी बढ़ जाने के साथ दिखेंगे1
  • दूसरा-तीसरा हफ़्ता:
  • आपका लिंग बड़ा दिखने लगेगा और उसका शेप भी सटीक हो जाएगा संभोग की अवधि 70% बढ़ जाएगी!2
  • चौथा हफ्ता और इसके बाद:
  • आपका लिंग 4 सेमी लंबा हो जाएगा! सेक्स की गुणवत्ता काफी अच्छी हो जाएगी और संभोग में चरम सुख जल्दी मिलेगा तथा 5-7 मिनट तक चलेगा!

Comments

(0 Comments)

Your email address will not be published. Required fields are marked *