मर्दानगी में सुधार लाने की सबसे अच्छी तकनीकें

About Dr. Nagender Kumar

Urologist, Sex counselor

क्या आप चाहते हैं कि आपका लिंग तेजी से कड़ा हो जाया करे? यहां पर सबसे विश्वसनीय तरीके मौज़ूद हैं. आपको हमें शुक्रिया अदा करने की कोई ज़रुरत नहीं है, बस इन तरीकों का सही से पालन करें.

कभी-कभी आपका लिंग बिस्तर में आपकी अपेक्षा से अलग क्यों बर्ताब करता है? यौन अक्षमता के कई कारण हैं.

  • १. शारीरिक या मानसिक तनाव या दोनों ही.
  • २. अधिक वज़न.
  • ३. दिल में और रक्त वाहिकाओं में समस्याओं का होना.
  • ४. ताकत की कमी.
  • ५. टेस्टोस्टेरोन के स्तर में कमी या हार्मोनल असंतुलन.
  • ६. रीढ़ की हड्डी की समस्याएं (हार्निया, अंग का बाहर निकला होना, या किसी चोट का असर).
  • ७. उच्च रक्तचाप.
  • ८. धूम्रपान या शराब जैसी बुरी आदतों का होना.
  • ९. ५० साल से अधिक उम्र का होना.
  • १०. मधुमेह.
  • ११. नींद संबंधी समस्यायें.

समस्याओं को हल करने के तरीके

● सेक्स पोजीशन में सुधार

जब महिला ऊपर होती है, तो लिंग से कड़ेपन का खत्म होना बहुत ही आसान होता है, लिंग से रक्त का बाहर की तरफ सक्रिय प्रवाह होता है. यदि आप समस्याओं से परेशान हैं, तो उन पोजीशन्स को आजमायें जिनमे मर्द ऊपर होता है, जैसे कि डॉगी स्टाइल, मिशनरी, खड़े होकर या घुटने टेककर.

२. प्यूबिक-कॉकसेजियल मांसपेशी अभ्यास

इस मांसपेशी को कैसे ढूंढें? पेशाब करते समय, पेशाब को रोकने की कोशिश करें. वह मांसपेशी जो ऐसा करने में आपकी मदद करती है वही प्यूबिक-कॉकसेजियल मांसपेशी (एल के मसल) है.

यह मांसपेशी बिस्तर में आपकी सहनक्षमता, पेल्विक एरिया में रक्त परिसंचरण, और सेक्स के दौरान सम्पूर्ण आनंद को निर्धारित करती है.

एल के मांसपेशी को प्रशिक्षित कैसे करें?

  • १. पेशाब करने के दौरान बार-बार प्रवाह को रोकें.
  • २. ज्यादा देरी और कम देरी के लिए कम्प्रेशन. एक बार जब आप मांसपेशी को सिकोड़ना सीख जायेंगे, तो आप इस अभ्यास को कहीं भी सार्वजनिक रूप से कर सकते हैं.
  • ३. अपनी सांस में बिना किसी रुकावट लाये हुए इस मांसपेशी में तनाव पैदा करें.
  • ३. शौचालय में टिप टो खड़े होना

यह तकनीक ताओवादी भिक्षुओं द्वारा जानी जाती थी. इसमें पेशाब करते समय अपने टिप-टो पर खड़े होने की सलाह दी जाती है. आपकी पीठ सीधी होनी चाहिए, दांत भिदे हुए, नितंब – खिचा हुआ होना चाहिए.

समय के साथ, यह तकनीक गुर्दे के कार्यों में सुधार लाती है, नपुंसकता को रोकती है और सेक्स में सुधार लाती है.

४. लिंग में रक्त प्रवाह की कृत्रिम वृद्धि

गहरी सांस लें और अपनी सांस को रोक लें. अपनी तर्जनी, मध्यमा और अंगूठे (इसे ओके ग्रिप के नाम से भी जाना जाता है) से अपने लिंग के आधार को निचोड़ें. लिंग के टोपे में रक्त के संचार को बढ़ाने के लिए लहरों की तरह से उपर की तरफ तरंग करें. ९ की गिनती करते हुए अपनी गति को निर्धारित करें. ९ की गिनती पर, आप लिंग के टोपे के करीब जायें. जब तक हो सके आप अपनी सांस को रोके रहें. इस अभ्यास को करने के लिए आपके लिंग का पूरी तरह से खड़ा होना आवश्यक नहीं है.

यह तकनीक लिंग में रक्त परिसंचरण को बढ़ा देती है. नियमित अभ्यास से आपका लिंग तेजी से कड़ा हो जायेगा.

५. स्खलन में कृत्रिम देरी

सेक्स के दौरान, स्खलन से बचने की कोशिश करें. ख़ासतौर पर यह ५० साल की उम्र के बाद उपयोगी होता है. आम तौर पर, स्खलन के बाद शरीर धीरे-धीरे फिर से वापस अपनी स्थिति में आता है, इसलिए जल्दी स्खलन करना आवश्यक नहीं होता है.

लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि हमें प्यार करना बंद कर देना चाहिए. आपका जो मन चाहे वैसा करें लेकिन स्खलन की तरफ तभी जाएँ जब वास्तविकता में इसकी ज़रुरत हो.

६. आहार

मर्दानगी के लिए, निम्नलिखित उत्पाद उपयोगी हैं:

  • अदरक;
  • मछली, समुद्री भोजन (विशेष रूप से ऑयस्टर, मैकेरल और फ़्लॉन्डर);
  • केला;
  • नींबू प्रजाति के फल (विशेष रूप से नींबू);
  • चिकन और वील;
  • अंडे;
  • नट्स

७. अंडकोष की मालिश

अपने आप ही कर सकते हैं. आपको जिस हरक़त से प्रसन्नता मिले इसे उसी तरह से ही कर सकते हैं. आप इसे जितना अधिक करेंगे, उतने ही बेहतर परिणाम प्राप्त होंगे. विशेष रूप से सम्भोग से पहले अंडकोष की मालिश करना उपयोगी साबित होता है.

अंडकोष की मालिश से लंबे समय तक संभोग करने में आसानी होती है, मर्दानगी और कामेच्छा में वृद्धि भी होती है.

FREE Fast Shipping offer for our readers:

  • पहले और दूसरे सप्ताह में:
    कड़ापन लम्बे समय के लिए कठोर बन जाता है, लिंग की संवेदनशीलता २ गुना तक बढ़ जाती है. परिणाम नज़र आने लगते हैं – क्योंकि आपके लिंग का आकार १.५ सेमी. तक बढ़ चुका होता है.1
  • दूसरे और तीसरे सप्ताह में:
    पहले से आपके लिंग में आकार वृद्धि दर्शित होने लगती है, यह संरचनात्मक रूप से एकदम सटीक बन जाता है. सम्भोग का समय ७०% तक बढ़ जाता है!2
  • चौथे सप्ताह में और उससे आगे:
    लिंग ४ सेमी. तक बढ़ जाता है! सम्भोग का आनंद पहले से और भी अच्छा हो जाता है. ओर्गेज़्म लम्बे समय के होते हैं जो कि ५-७ मिनट तक चलते हैं!

८. पैर पर बायोएक्टिव पॉइंट्स को सक्रिय करना

पैर पर कुछ ऐसे पॉइंट्स होते हैं जो कि जैविक रूप से सक्रिय होते हैं. उनमें से कुछ मर्दानगी के लिए जिम्मेदार होते हैं.

इन पॉइंट्स को उत्तेजित करने के लिए नंगे पैर जमीन पर, घास पर, फ़र्श पर, समुद्र के किनारे रेत पर चलना उपयोगी होता है. सरसों के पैकेटों से भी इन बायोएक्टिव पॉइंट्स को सक्रिय करने में मदद मिलती है. उन्हें गर्म पानी में नम करें, उन्हें अपने पैरों के नीचे रखें और गर्म मोजे पहन लें. १० मिनट के बाद, सरसों को हटा दें, अपने पैरों को ठंडे पानी से धुल लें और तौलिया से सुखा लें.

९. मर्दानगी बढ़ाने के लिए प्राकृतिक उत्तेजक

प्राकृतिक उत्तेजकों की मदद से, आप रिकॉर्ड समय में अपनी मर्दानगी को बहाल कर सकते हैं. Hammer of Thor की मदद से केवल एक महीने में कड़ेपन की अक्षमता (आयु से संबंधित) को सफलतापूर्वक सही किया जा सकता है. इस औषधि के घटकों में औषधीय पौधों के अर्क और समुद्री मोलस्क प्रमुख हैं. इसके सभी घटक प्राकृतिक हैं, जिसके चलते आपके स्वास्थ्य को कोई भी नुकसान नहीं हो सकता है, और इससे बहुत ही अच्छे परिणाम भी प्राप्त होते हैं.

पुरुषों का जेल, Xtra Man न केवल शक्ति को बढ़ाता है, बल्कि लिंग के आकार को भी थोड़ा बढ़ा देता है. यह एक सुखद आश्चर्य देने वाला है, क्या आप इससे सहमत नहीं होंगे?

ऐसे ही समान प्रभाव को एक और अंतरंग जेल – Titan Gel के माध्यम से भी पाया जा सकता है. यदि आप रोज़ाना सम्भोग से पहले इसका इस्तेमाल करते हैं, तो इसके परिणाम न केवल आपको बल्कि आपके साथी को भी प्रभावित कर देंगे. हम इसकी गारंटी लेते हैं!

१०. अपनी बुरी आदतों को बदलें

धूम्रपान और शराब का उपयोग अब फैशनेबल नहीं रहा है. तंबाकू रक्त परिसंचरण को धीमा कर देता है, जिसका शक्ति पर नकारात्मक प्रभाव पड़ता है. बीयर से एस्ट्रोजेन के स्तर में वृद्धि होती है – एस्ट्रोजन हार्मोन मर्दों के शरीर में टेस्टोस्टेरोन को बनने से रोकता है.

इसलिए, आप अपनी मर्दानगी को बहाल करने के लिए धूम्रपान और शराब को छोड़कर स्वस्थ जीवनशैली अपना लें.

११. ठंडा और गर्म कंट्रास्ट शावर लें

विपरीत स्नान से न केवल आपकी सुबह उत्साह भरी होती है, बल्कि शाम के सम्भोग में भी सुधार आता है.

अच्छा तो यह होता है कि आप सुबह और शाम दोनों ही समय कंट्रास्ट शावर लें. “गर्म” और “ठन्डे” स्नान की अवधि लगभग ४०-४० सेकंड की होती है.

१२. मन की शांति

मनुष्य के स्वास्थ्य को अच्छा रखने के लिए मन और शरीर में शान्ति का होना एक महत्वपूर्ण अवयव है. इसलिए नकारात्मकता से बचें और सकारात्मक भावनाओं को आकर्षित करने का प्रयास करें.

  • १. वाद – विवाद और टकराव से बचें.
  • २. यदि आपका काम थकाऊ होता है, तो सप्ताहांत को शान्ति से व्यतीत करें: घर पर, अकेले अपने साथी के साथ, प्रकृति के बीच, इत्यादि.
  • ३. साथी से कम अनबन. यदि आप अपने साथी के साथ लड़ने में व्यस्त रहते हैं, तो आपके पत्थर जैस कठोर लिंग से भी कोई फ़र्क नहीं पड़ता है.
  • ४. हँसमुख और सकारात्मक सोच रखने वाले लोगों से बात करने की कोशिश करें.

Xtra-man cream

Comments

(0 Comments)

Your email address will not be published. Required fields are marked *