Titan Gel की सच्चाई: रिव्यू, इसके घटक और नतीजों का खुलासा

प्रोडक्ट समीक्षा

 

प्रोडक्ट का नाम: Titan Gel (आधिकारिक रूप से उत्पादन बंद कर दिया गया है)

प्रोडक्ट कंपनी: हेंडेल एलएलसी

प्रोडक्ट वेबसाइट: https://titangel.com (रूसी भाषा)

Amazon ऑफर: उपलब्ध है (ऑफर देखें)

जीएनसी ऑफर: उपलब्ध नहीं है

पिछला अपडेट: मार्च 2018

 

शोध और अध्ययनों ने दर्शाया है कि आज पुरुषों का टेस्टोस्टेरोन स्तर 30 साल पहले के स्तर से लगभग 22% गिर गया है। इसके पीछे कई बाह्य कारण हो सकते हैं लेकिन इसके घटने के पीछे का मुख्य कारण एक्सर्साइज़ न करना और खराब खान-पान माना जाता है।

टेस्टोस्टेरोन स्तर कम होने से ऊर्जा स्तर और कामेच्छा पर बुरा प्रभाव पड़ता है और हर उम्र के पुरुषों को समस्याएँ हो सकती हैं। यह कोई आश्चर्य की बात नहीं है कि आज टेस्टोस्टेरोन बूस्टर इतने आम हो गए हैं।

टेस्टोस्टेरोन कम होना ही एकमात्र समस्या नहीं है।

सामाजिक दबावों के कारण पुरुष अधिकतर यही सोचते हैं कि उनके लिंग के साइज़ से उनके आत्म-विश्वास पर बिस्तर पर और बिस्तर के बाहर भी प्रभाव पड़ता है। यही कारण है कि कई कंपनियों ने इस मुद्दे से निपटने के लिए लिंग बड़ा करने के सप्लिमेंट्स डिज़ाइन किए हैं।

मेल-एन्हांसिंग सप्लिमेंट्स लेने के कुछ फायदे हैं:

  •  रक्त का प्रवाह बढ़ जाने से आपके स्तंभन में बढ़त नज़र आने लगती है
  •  सेक्स की इच्छा में जबर्दस्त बढ़त
  •  एक्स्टेंडर्स और एक्सर्साइज़ के साथ उपयोग करने पर लिंग के साइज़ में तेज और स्थाई वृद्धि

 

इन सप्लिमेंट्स से आपको कुछ समय के लिए तो नतीजे मिल जाएंगे लेकिन साथ में खींचने (ट्रैक्शन) या एक्सर्साइज़ नहीं करने पर भी इनसे स्थायी नतीजे नहीं मिलते।

यदि आप ये एन्हांस्मेंट सप्लिमेंट्स इसलिए ले रहे हों ताकि कम से कम मेहनत में कुछ इंच बढ़त मिल जाए तो आपको निराशा ही हाथ लगेगी। लेकिन यदि आप इन्हें शारीरिक एक्सर्साइज़ के साथ करने की सोच रहे हैं तो आपको वांछित नतीजे मिल सकते हैं।

लिंग बड़ा करने के सप्लिमेंट काम कैसे करते हैं?

लिंग बड़ा करने के सप्लिमेंट रक्त में आने के बाद लिंग की ओर रक्त प्रवाह बढ़ा देते हैं। इनसे आपके शरीर की टेस्टोस्टेरोन बढ़ाने की क्षमता भी बढ़ जाती है। इससे न सिर्फ आपकी सेक्स इच्छा काफी बढ़ जाएगी, आपका स्तंभन भी ज़्यादा कठोर हो जाएगा और लंबा चलेगा।

लिंग बड़ा करने के सप्लिमेंट तीन प्रकार के होते हैं:

  1. गोलियाँ ((Male Extra, VigRX, ProSolution)
  2. जैल ((Titan Gel, ProSolution Gel)
  3. क्रीम (Male Extra, VigRX, ProSolution)

 

आपका लिंग शिथिल अवस्था में भी लगभग एक इंच बड़ा हो जाएगा। ये नतीजे केवल तब तक ही रहते हैं जब तक आप प्रोडक्ट उपयोग कर रहे होते हैं।

अपनी रूटीन में लिंग की एक्सर्साइज़ शामिल न करने से आपका साइज़ स्थायी नहीं रहेगा। यदि आप एकदम चमत्कारी वृद्धि की आशा नहीं कर रहे हों तो इन सप्लिमेंट्स को लेने में कोई बुराई नहीं है।

TITAN GEL के साथ खींचना (ट्रैक्शन) या एक्सर्साइज़ करना

पीनाइल एक्सटेंडर उपकरण और एक्सर्साइज़ लिंग बड़ा करने के जाने-माने और प्रमाणित तरीके हैं। हालांकि धीरे-धीरे तीव्रता बढ़ाने से इनमें कोई खतरा नहीं होता लेकिन तेजी से नतीजे पाना थोड़ा मुश्किल होता है। आप चाहे कोई एक्सटेंडर उपयोग कर हों या एक्सर्साइज़ कर रहे हों या दोनों साथ में कर रहे हों, अच्छे नतीजे नज़र आने के लिए आपको कुछ महीने तक इंतज़ार करना ही होगा।

एक औसत आदमी के लिए स्थायी रूप से एक दो इंच बढ़ाना बिल्कुल संभव होता है।

लेकिन कई पुरुषों में इस पद्धति का पालन करने की न तो लगन होती है और न धैर्य। वास्तव में अधिकतर पुरुष एक दो हफ्ते के बाद ही छोड़ देते हैं क्योंकि उन्हें नतीजे नहीं मिलते। और यहीं Titan Gel काम आती है क्योंकि इसे एक्सर्साइज़ के साथ उपयोग करने से नतीजे बहुत अच्छे हो सकते हैं।

Read next  क्या नियमित सेक्स लिंगोत्थान संबंधी समस्याओं के लिए एक अच्छा इलाज है?

कुछ शोधों ने यह दर्शाया है कि लिंग खींचने (ट्रैक्शन) के साथ-साथ लिंग बड़ा करने के सप्लिमेंट लेने से आप तीन महीने में ही छः महीने की बढ़त हासिल कर सकते हैं। लिंग बढ़ाने की अपनी रूटीन निर्धारित करते समय वैसी ही प्लानिंग करें जैसी शरीर की किसी और मसल को बढ़ाने के लिए की जाती है, ठीक उसी तरह जैसे बॉडीबिल्डर करते हैं।

एक्सटेंडर और एक्सर्साइज़ से लिंग के ऊतकों ठीक उसी तरह तनाव पड़ता है जैसे बाइसेप्स (डोलों) पर बाइसेप कर्ल्स करने पर पड़ता है। इसके बाद शरीर उसे रिपेयर करने लगता है।

एनहान्स्मेंट सप्लिमेंट्स से लिंग की ओर रक्त प्रवाह बढ़ जाता है और रिकवरी तेजी से होती है। इस बढ़े हुए रक्त प्रवाह के कारण ऑक्सिजन तथा अन्य पोषक पदार्थ उन ऊतकों तक पहुँच पाते हैं जिन्हें रिपेयर की जरूरत होती है।

अतिरिक्त रक्त प्रवाह से आपके लिंग में उसकी पूरी क्षमता तक रक्त भर जाता है जिससे वह वापस शिथिल नहीं हो पाता। चूंकि टेस्टोस्टेरोन प्रोटीन संश्लेषण और रिपेयर के लिए जिम्मेदार होता है, इसका स्तर बढ़ जाने से ऊतक तेजी से रिपेयर होते हैं।

मनोवैज्ञानिक स्तर पर ये सप्लिमेंट आपके लिए बहुत प्रेरणादायी सिद्ध हो सकते हैं। ऐसा इसलिए होता है क्योंकि जब आपको जल्दी नतीजे नज़र आने लगेंगे तो आप पद्धति का पालन करेंगे क्योंकि आपको लगने लगेगा कि इसे करने में फायदा है।

TITAN GEL क्या है और यह कैसे काम करती है?

Titan Gel पुरुषों के लिए एक टेस्टोस्टेरोन बूस्टर सप्लिमेंट है जिसे खास तौर पर लिंग का साइज़ और कामेच्छा बढ़ाने के लिए डिज़ाइन किया गया है। दूसरे कई टेस्टोस्टेरोन बूस्टर्स के उलट इसे “सिर्फ” कामेच्छा बढ़ाने के लिए नहीं बनाया गया है। इसे खास तौर पर उन लोगों के लिए डिज़ाइन किया गया है जो कामेच्छा के साथ लिंग के साइज़ और खड़े होने की शक्ति बढ़ाना चाह रहे हैं।

ये कहते हैं कि आपका लिंग एक महीने में 4 सेमी बढ़ जाएगा। Titan Gel आपके लिंग की मसल की कार्यक्षमता बढ़ाकर काम करती है। कॉर्पोरा कैवर्नोसा और कॉर्पस स्पंजियोसम ही लिंग का साइज़ बढ़ाने के लिए मुख्य रूप से जिम्मेदार होते हैं।

इसलिए, Titan Gel असर करने के लिए यह करती है:

  •  रक्त प्रवाह बढ़ाकर पोषक पदार्थों का अवशोषण बढ़ाने के साथ ही ऊतक की कार्यक्षमता बढ़ा देती है। जब ऊतकों के अंदर की कोशिकाएँ बड़ी हो जाती हैं जो आपका लिंग बड़ा हो जाता है।
  •  Titan Gel लिंग के प्रकोष्ठों का साइज़ और आयतन बढ़ा देती है। इससे आपका लिंग बड़ा हो जाना चाहिए। सप्लिमेंट लगाना बंद कर देने के बाद असर खत्म हो जाता है।

किसी भी सप्लिमेंट को चुनते समय यह भी एक निर्णायक पहलू होता है कि वह उपयोग करने में कितना आसान है। उदाहरण के लिए, कई लोगों को दिन में कई बार बड़ी-बड़ी गोलियाँ निगलना पसंद नहीं आता। Titan Gel उपयोग में आसान है; आपको बस इस जैल को दिन में एक बार अपने लिंग पर मालिश करके लगाना है। इसके सोख लिए जाने के तुरंत बाद आपको अपनी कामेच्छा में बढ़त नज़र आएगी और दूसरे फायदे भी होंगे।

जैल या क्रीम प्रकार के किसी भी सप्लिमेंट को उपयोग करते समय ध्यान रखें कि लगाने के दो घंटे बाद तक नहाएँ या धोएँ नहीं। इससे प्रोडक्ट को पूरी तरह अवशोषित होने का टाइम मिलता है और आपको सबसे अच्छे नतीजे मिलते हैं। यदि संभव हो तो धोने के बाद लगाना सबसे बेहतर होता है।

Read next  एक्सर्साइज़ करके अपना सेक्स प्रदर्शन कैसे बढ़ाएँ?

क्या TITAN GEL सुरक्षित है?

सभी चीजों को साथ में देखा जाए तो मेल-एनहांस्मेंट सप्लिमेंट और टेस्टोस्टेरोन बूस्टर एक औसत आदमी के लिए काफी सुरक्षित होते हैं। इनमें आम तौर पर सिंथेटिक घटक नहीं होते और ये प्राकृतिक विटामिनों और हर्ब्स से बनाए जाते हैं।

जिन सप्लिमेंट्स के बारे में ज़्यादा जानकारी उप्लबद्ध नहीं हो, उन्हें इस्तेमाल करने से पहले अपने डॉक्टर से सलाह जरूर ले लें।

क्या Titan Gel लगाने के कोई साइड-इफेक्ट होते हैं?

Titan Gel लगाने से किसी को भी साइड-इफेक्ट होने की कोई रिपोर्ट तो नहीं आई है लेकिन चूँकि लिंग बड़ा करने के सप्लिमेंट काफी समय से उपयोग में आ रहे हैं, इनके कुछ आम साइड-इफेक्ट होते हैं जो कभी-कभी परेशान कर सकते हैं।

हालांकि ये साइड-इफेक्ट केवल Titan Gel के लिए नहीं हैं फिर भी संभावित साइड-इफ़ेक्ट्स के बारे में जान लेना बेहतर होता है।

  •  कई पुरुषों को नींद में अश्वसन हो सकता है और नींद लगने में परेशानी हो सकती है।
  •  हॉरमोन स्तरों में बदलाव के कारण आपकी त्वचा में मुँहासे होने या उसके तैलीय हो जाने की संभावना बढ़ जाती है। ठीक उसे तरह जैसा किशोरावस्था में होता है।
  •  यदि इसे ज़्यादा लंबे समय तक उपयोग किया जाए तो किडनियों को नुक्सान पहुँच सकता है।
  •  चूंकि शरीर कोशिकाओं को भरने के लिए ज़्यादा पानी उपयोग करता है, इससे पेशाब में परेशानी आ सकती है (ज़्यादा पानी पीने से यह ठीक हो जाता है)
  •  ज़्यादा पावर वाले सप्लिमेंट्स लेने से गुस्सा और आक्रामक रवैया आ सकता है।
  •  कुछ पुरुषों ने अपनी प्रोस्टेट ग्रंथि में सूजन रिपोर्ट की है जो ठीक नहीं होती।

ऐसा होना लगभग असंभव ही है कि आपको Titan Gel के उपयोग से ऐसे किसी भी साइड-इफेक्ट का सामना करना पड़े लेकिन यह समझना अच्छा होता है कि इनके होने की संभावना तो होती ही है। यदि आपको लगता है कि आपको भी ऐसे लक्षण नज़र आ रहे हों तो सप्लिमेंट का उपयोग तुरंत बंद कर दें।

TITAN GEL के घटक और फॉर्मूला

 

घटक: एक्वा, सोडियम पॉलीएक्रिलेट, डाईमेथीकॉन, साइक्लोपेंटासीलोक्ज़ेन, ट्राईडीसेथ-6, PEG/PPG-18/18 डाईमेथीकॉन प्रोपीलीन ग्लायकोल, पोलोज़ेमर 184, वर्बेना ऑफिसिनालिस (वर्वेन) फूलों/पत्ती एक्सट्रैक्ट, सोडियम हयालूरोनेट, सूचिनिक एसिड, फ्रगरिया वेस्का (स्ट्रॉबेरी) फ्रूट एक्सट्रैक्ट, मेंथोल, फीनोज़ायथेनोल, ग्लीसरिल लौरेट, सोडियम हाईड्रोक्साइड।

हालांकि हमें किसी विश्वसनीय वेबसाइट पर इसके घटकों के बारे में कोई जानकारी तो नहीं मिली, एक वेबसाइट पर इनकी लिस्ट जरूर दी गई है। हम तो यही मान सकते हैं कि इन्होने प्रोडक्ट की बॉटल खुद खरीदी होगी और इसके घटकों के बारे में लेबल पर पढ़ा होगा क्योंकि यह कहीं और उपलब्ध नहीं है।

लिस्ट में दिए गए घटक प्राकृतिक हैं।

जिंको बिलोबा

जिंको बिलोबा पेड़ को चीनी चिकित्सा पद्धति में कई सालों से उपयोग किया जाता रहा है। इससे संज्ञानात्मक कार्य-कलाप बेहतर होते हैं और इसे मुख्य रूप से स्मृति और एकाग्रता बढ़ाने के लिए उपयोग किया जाता है।

यह लिंग बढ़ाने वाले अधिकतर प्रोडक्ट्स में मिलाया जाता है क्योंकि इससे रक्त प्रवाह बेहतर होता है। जिंको लेने वाले अधिकतर लोग खड़ेपन की गुणवत्ता में बेहतरी रिपोर्ट करते हैं।

घोंघों का एक्सट्रैक्ट

घोंघों को कई सदियों से एक कामोत्तेजक औषधि के रूप में उपयोग किया जाता रहा है। घोंघों में प्रचुर मात्रा में ज़िंक और विटामिन बी-6 पाई जाते हैं और ये दोनों ही टेस्टोस्टेरोन उत्पादन के लिए महत्वपूर्ण होते हैं। घोंघों से न सिर्फ आपकी सेक्स इच्छा बढ़ जाएगी, इससे खड़े होने की शक्ति में भी वृद्धि होती है।

Read next  बिस्तर पर ज़्यादा देर तक टिकने की जबर्दस्त गाइड

जिंजेरॉल

अदरक का मुख्य सक्रिय घटक जिंजेरॉल होता है। यह शरीर में वैसी ही “गर्मी” उत्पन्न करता है जैसी सेक्स उत्तेजना के दौरान होती है। पुरुषों और महिलाओं दोनों में जिंजेरॉल लेने से कामेच्छा में वृद्धि देखी गई है।

मुइरा पुआमा एक्सट्रैक्ट

मुइरा पुआमा ब्राज़ील की एक परंपरागत कामोत्तेजक औषधि है जिसे कई सालों से उपयोग में लाया गया है। ऐसे कोई वैज्ञानिक आंकड़ें तो नहीं हैं जो यह प्रमाणित कर सकें कि इससे कामेच्छा बढ़ती है, लेकिन इससे संज्ञान शक्ति में वृद्धि देखी गई है।

चूंकि जिंको संज्ञानता बढ़ाता है, ऐसा संभव है कि मुइरा का भी ऐसा ही प्रभाव हो।

एल-आर्जिनीन

एल-आर्जिनीन से धमनियों और शिराओं में रक्त प्रवाह बढ़ जाता है क्योंकि यह उन्हें चौड़ा कर देता है। इससे यह न सिर्फ लिंग की ओर रक्त प्रवाह बढ़ा देगी, इससे शरीर में जितना संभव हो उतना रक्त भर जाएगा। एल-आर्जीनीन से एक्सर्साइज़ के बाद शरीर की पुनर्निमाण करने की क्षमताएँ भी बढ़ जाती हैं।

Titan Gel के बारे में जिन भी वेबसाइटों में जानकारी उप्लबद्ध है वे सभी बताती हैं कि आप चार हफ्तों के अंदर अपना लिंग 4 सेमी बढ़ा सकते हैं।

 

लेकिन जब हमने उपभोक्ताओं की प्रतिक्रियाओं पर नज़र डाली तो हमारा निष्कर्ष पूरी तरह बदल गया।

प्रतिक्रियाओं की पुष्टि करना लगभग असंभव होता है लेकिन अधितकर प्रतिक्रियाओं में यह लिखा था कि रोज उपयोग करने के बाद भी इससे लिंग में कोई बढ़त नहीं हुई। एक ग्राहक ने तो इससे सावधान रहने तक की चेतावनी दी थी क्योंकि इस प्रोडक्ट का उपयोग करने से उसे इरेक्टाइल डिसफंक्शन हो गया था।

इस प्रकार के रिव्यू का ज़्यादा अर्थ नहीं होता क्योंकि जैल के घटकों में ऐसे कोई पदार्थ हैं ही नहीं जो खड़े होने से संबन्धित समस्याएँ पैदा करने में थोड़ा भी योगदान देते हों।

कुछ सकारात्मक रिव्यू

कुछ लोगों ने इसके अच्छे रिव्यू भी डालें हैं और ये सलाह देते हैं कि आपको अपनी रूटीन में लिंग बढ़ाने की एक्सर्साइज़ भी शामिल कर लेनी चाहिए जिनके बारे में हमने आपको ऊपर बताया है।

दुर्भाग्य से इनमें से कई अनुभव ऐसे प्रतीत होते हैं जिन्हें प्रतिद्वंदी कंपनियों द्वारा Titan Gel की इमेज खराब करने के लिए पोस्ट किया गया है। इसलिए हम सुनिश्चित नहीं हैं कि यह प्रोडक्ट वैध है या नहीं।

अंतिम निर्णय: क्या TITAN GEL खरीदने लायक है?

हमने जो प्रमाण देखे हैं, उनसे यही लगता है कि Titan Gel कभी भी एक ऑफिशियल रिटेल प्रोडक्ट रहा ही नहीं। कारण जो भी हो, ऐसा प्रतीत होता है कि इस प्रोडक्ट के मार्केट में आने से पहले ही इसका उत्पादन बंद कर दिया था और पहले बैच में बन चुके प्रोडक्ट ही बेचे जा रहे हैं।

यह जानना मुश्किल है कि ऐसा प्रोडक्ट क्वालिटी के कारण हुआ था या फिर किसी कारण से कंपनी ही बंद हो गई थी।

जो अनुभव हम देख पा रहे हैं उनमें Titan Gel के बारे में नकारात्मक बाते ही लिखीं थी लेकिन इसकी eBay लिस्टिंग में इसके रिव्यू उलट थे। इस प्रोडक्ट को रोज खरीदा जाता है और इसके ज़्यादा निगेटिव कम्प्लेंट भी नहीं हैं।

Comments

(0 Comments)

Your email address will not be published. Required fields are marked *

  • Lucknow
  • Indore
  • New Delhi
  • Ahmedabad
  • Jaipur
  • Pune
  • Patna
  • Agra
  • Mumbai
  • Chandigarh
  • Bengaluru
  • Kolkata
  • Hyderabad
  • Chennai
  • Guwahati
  • Bhopal
  • Sonipat
  • Shimla
  • Bhubaneswar
  • Coimbatore
  • Gurgaon
  • Ludhiana
  • Jammu
  • Durgapur
  • Rohtak
  • Panipat
  • Kochi
  • Kozhikode
  • Dehradun
  • Ghaziabad
  • Kanpur
  • Noida
  • Meerut
  • Siliguri
  • Anantapur
  • Jamshedpur
  • Surat
  • Vadodara
  • Srinagar
  • Belgaum
  • Shivamogga
  • Kota
  • Allahabad
  • Moradabad
  • Ranchi
  • Raipur
  • Bhilai
  • Kalyan
  • Thane
  • Navi Mumbai