Hammer of Thor – सेक्स पावर बढ़ाने का एक प्राकृतिक नुस्खा

अच्छे और लंबे समय तक चलने वाले सेक्स से पार्टनरों के बीच का रिश्ता और भी प्रगाढ़ हो जाता है और जुड़ाव बढ़ जाता है। एक अच्छी सेक्स लाइफ और लंबा चलने वाला संभोग ही जोड़ों को एक साथ रहने का पूरा आनंद देता है। यह सब हर रात Hammer of Thor  नाम की एक अनोखी दवा से संभव हो सकता है। यदि आप नियामत रूप से कैप्सूल ऑर्डर करके नियमित रूप से खाएँगे तो आप सुबह होने तक सेक्स कर सकते हैं। यही नहीं, इससे आपकी खड़े होने की समस्याएँ भी ठीक हो जाएँगी और दोनों पार्टनरों को चरम सुख की प्राप्ति होगी।

Hammer of Thor क्या है?

Hammer of Thor में मिले पदार्थों के खास मिश्रण से आपका मैटाबॉलिज़्म कंट्रोल होता है और टेस्टोस्टेरोन का उत्पादन बढ़ जाता है। इस कैप्सूल को लेने से सेक्स हॉरमोन्स में तेजी से बढ़ोतरी होती है और वे अपने 4-5 घंटे तक अपने उचित स्तर पर मेनटेन रहते हैं।

जो पुरुष सेक्स निम्नलिखित सेक्स समस्याओं से परेशान हैं उन्हें Hammer of Thor लेना ही चाहिए।

  • सेक्स क्रिया में कमी और ठीक से खड़ा नहीं होना;
  • शीघ्रपतन और कामेच्छा की कमी;
  • लगातार थकान और बार-बार सेक्स कर पाने में असफलता;
  • नपुंसकता और वीर्य में शुक्राणु की कमी;
  • मूत्रमार्ग के संक्रमण जैसे यूरेथ्राइटिस (मूत्र नलिका का संक्रमण), सिस्टाइटिस (मूत्राशय में जलन), पायलोनिफ्राइटिस (गुर्दों तक फैल चुका संक्रमण) और अन्य;
  • जिन्हें लगातार तनाव रहता है और जो कड़ी एक्सर्साइज़ करते हैं।

सेक्स शक्ति से संबंधी समस्याएँ क्यों आती हैं?

किसी पुरुष के सेक्स जीवन की कामेच्छा और उसकी प्रचुरता खून में टेस्टोस्टेरोन की सांद्रता पर निर्भर होती हैं। टेस्टोस्टेरोन का मैटाबॉलिज़्म और पूरे स्वास्थ्य पर असर पड़ता है। हॉरमोन असंतुलित हो जाने पर ठीक से खड़ा नहीं होता और शीघ्रपतन की समस्या उत्पन्न हो जाती है। ये क्यों होता है? इसके लिए निम्नलिखित कारण जिम्मेदार होते हैं:

  • शरीर में होने वाले उम्र संबंधी बदलाव;
  • पर्यावरण का दुष्प्रभाव और अनुचित खान-पान;
  • यौन-रोगों से जनित संक्रमण;
  • विटामिनों, खासकर ज़िंक की कमी;
  • कुछ खास तरह की दवाएँ;
  • तनाव और नींद की कमी।

आजकल बाज़ार में मर्दानगी बढ़ाने के कई प्रोडक्ट उपलब्ध हैं लेकिन उनमें से कई तो कोई असर ही नहीं करते, कईयों का असर सिर्फ थोड़े समय तक ही रहता है और कई तो प्रमाणित न होने की वजह से सुरक्षित भी नहीं होते।

Hammer of Thor एक पूरी तरह से प्राकृतिक और भरोसेमंद प्रोडक्ट है। इस पर कई क्लीनिकल ट्रायल किए जा चुके हैं जिनसे या प्रमाणित हो चुका है कि इसका कामेच्छा पर सकारात्मक प्रभाव पड़ता है।

Hammer of Thor में कौन से सीक्रेट पदार्थ हैं?

Hammer of Thor प्राकृतिक पदार्थों के कॉम्प्लेक्स से बना एक ऐसा पदार्थ है जिसे शरीर सरलता से पचा लेता है और लिंग ठीक से खड़ा होने लगता है।

  • लॉन्ग जैक सत्त। यह एक मूलतः दक्षिण-पूर्वी एशिया का लोकप्रिय पौधा है जिसे मलेशियन जिन्सेंग के नाम से भी जाना जाता है। इस घटक से टेस्टोस्टेरोन का संश्लेषण बढ़ जाता है जिससे मर्दानगी अच्छी होती है। इसी टेस्टोस्टोरोन से थकान और तनाव में भी कमी होती है और रोगों से लड़ने की क्षमता तथा संभावित ट्यूमरों की रोकथाम में भी बढ़त होती है;
  • एलिफ़ैन्टोपस स्केबर का सत्त। यह एक ऐसा पौधा है जिसमें एस्ट्रिक्शन (जुड़ने के गुण) और कार्डिओटॉनिक (हार्ट की पंपिंग बेहतर करना) गुण होते हैं और जिसे एक शक्तिशाली कामोत्तेजक औषधि माना जाता है। इसमें ऐसे पदार्थ होते हैं जो ट्यूमर होने या उन्हें और बढ़ने से रोकते हैं। इसकी जड़ों को एक डाईयूरेटिक (मूत्रवर्धक), एंटीफेब्राइल एजेंट (ज्वरनाशक) और एक जनरल टॉनिक के तौर पर इस्तेमाल किया जाता है;
  • इमली। इमली की छाल में टैनिन पाया जाता है। इमली के पाउडर का स्वाद मीठा और होता है और इसमें एस्ट्रिक्शन और एंटीबैक्टीरियल गुण होते हैं। यह पाचन बेहतर करता है, डिसबैक्टीरिओसिस ठीक करता है, मैटाबॉलिज़्म बेहतर करता है और बुढ़ापा आने को धीमा करता है;
  • बेट्यूला एल्नोइड्स एक्सट्रैक्ट। इससे खून का प्रवाह बढ़ता है, मैटाबॉलिज़्म तेज हो जाता है और यूरोजेनिटल (मूत्र-जननांग) सिस्टम ठीक हो जाता है;
  • एनाक्सागोरिया। एक सफ़ेद फूलों वाला पौधा जिसे मर्दानगी के इलाज और पूरे स्वास्थ्य की बेहतरी के लिए इस्तेमाल किया जाता है। इसमें पाए जाने वाले पदार्थ अंदरूनी अंगों पर अच्छा असर डालते हैं और उत्तकों को वापस ठीक करते हैं;
  • ड्रैगन ट्री (ड्राकाएना)। यह मूल रूप से कैनेरी आइलैंड और एशिया तथा अफ्रीका के उष्णकटिबंधीय क्षेत्रों में पाया जाने वाला पौधा है। इस प्राचीन प्रजाति में एक लाल रंग की गोंद होती है जिसे ‘ड्रैगन ब्लड’ कहा जाता है। यह चिपचिपा पदार्थ पेट के अल्सरों को ठीक करके रोगों से लड़ने की क्षमता बढ़ाता है, तनाव कम करता है और मर्दानगी बेहतर करता है।

इसके लिंग उत्तेजक और लिंग बड़ा करने के गुणों के कारण इस दवा का संतुलित फॉर्मूला बेजोड़ है।

मर्दानगी बढ़ाने के नुस्खे के उपयोग के निर्देश

इस दवा को नियमित रूप से इस्तेमाल करना चाहिए और बिना रुके 1 महीने से ज़्यादा तक रोज 2 कैप्सूल लेना चाहिए। यदि आपको लिंग उत्तेजित होने के बाद स्थिर और लंबे समय तक खड़ा रखना है तो आपको संभोग के तुरंत पहले 1 कैप्सूल लेनी होगी।

दवाई को दो या तीन हफ्ते तक उपयोग करने के अंदर ही आपके संभोग का समय कई घंटों तक बढ़ जाएगा और आपको थकान भी नहीं होगी। पूरा कोर्स करने के बाद आप किसी भी समय सेक्स कर पाएंगे और आपका लिंग उत्तेजित होते ही तुरंत खड़ा हो जाएगा।

Hammer of Thor की प्रभावशीलता

सच्चाई तो यह है कि अपने भरोसेमंद संतुलित मिश्रण के कारण Hammer of Thor भारत से लेकर कनाडा तक दुनिया के कई देशों में धूम मचा चुका है। इंटरनेट की मदद से हम अनोखे प्रोडक्ट्स के बारे में जान सकते हैं और जहाँ बैठे हों वहीं से उन्हें खरीद सकते हैं।

इस दवा के ग्राहकों के कई सकारात्मक रिव्यू हैं। लेकिन बेहतर होगा कि आप अपने खुद के अनुभव से इसका असर देखें। जहाँ तक क्लीनिकल ट्रायल्स का सवाल है, इनमें 96% तक पुरुषों के नतीजे सकारात्मक रहे हैं। Hammer of Thor को सुविधाजनक रूप से पैक किया जाता है और इसमें उचित डोज़ आता है। इसे बिना किसी साइड-इफेक्ट के डर के शराब या अन्य दवाएँ लेते हुए भी लिया जा सकता है। जब भी दवा खरीदें तो सुनिश्चित कर लें कि इसका सर्टिफिकेट और उपयोग के निर्देश उपलब्ध हैं। यही इस बात की गारंटी होती है कि प्रोडक्ट जाली नहीं है और सुरक्षित है।

FREE Fast Shipping offer for our readers:

  • 1ST-2ND weeks:
    Your erection will become longer and firmer and your penis sensitivity will increase by two times. The first changes will be visible in the form of a 1.5 cm penis length increase.1
  • 2nd- 3rd weeks:
    Your penis will be noticeably BIGGER and its shape will become anatomically accurate. The duration of sexual intercourse will increase by 70%!2
  • 4 weeks and beyond:
    Your penis will be 4 cm longer! The quality of sex will be way better. Orgasm will come faster and last up to 5-7 minutes!

 

 

Comments

(1 Comment)

  • RAJENDER gurjer

    Hello Sir me ek dibba mangwaya kya
    Unse kuch prinaam aayega kya

  • Your email address will not be published. Required fields are marked *

    • Lucknow
    • Indore
    • New Delhi
    • Ahmedabad
    • Jaipur
    • Pune
    • Patna
    • Agra
    • Mumbai
    • Chandigarh
    • Bengaluru
    • Kolkata
    • Hyderabad
    • Chennai
    • Guwahati
    • Bhopal
    • Sonipat
    • Shimla
    • Bhubaneswar
    • Coimbatore
    • Gurgaon
    • Ludhiana
    • Jammu
    • Durgapur
    • Rohtak
    • Panipat
    • Kochi
    • Kozhikode
    • Dehradun
    • Ghaziabad
    • Kanpur
    • Noida
    • Meerut
    • Siliguri
    • Anantapur
    • Jamshedpur
    • Surat
    • Vadodara
    • Srinagar
    • Belgaum
    • Shivamogga
    • Kota
    • Allahabad
    • Moradabad
    • Ranchi
    • Raipur
    • Bhilai
    • Kalyan
    • Thane
    • Navi Mumbai