14 फूड्स जो कि जिगर को साफ करते हैं

आधुनिक समाज एक ऐसी दुखद स्थिति में है जिसमें अति-संसाधित यकृत पैदा होते हैं. जब हम अधिक मात्रा में प्रसंस्कृत या तला हुआ भोजन खाते हैं या किसी भी समय जब हम पर्यावरण प्रदूषण या तनाव से घिरे होते हैं, तो यकृत को अधिक काम करना पड़ता है और यह काम के बोझ के तले दब जाता है. जब यकृत पर बहुत अधिक कार्य का दबाब होता है, तो यह अच्छी तरह से से विषाक्त पदार्थों और वसा को संसाधित नहीं कर पाता है. ऐसे कई खाद्य पदार्थ मौजूद हैं जो शरीर से जहरीले कचरे को निकालने की यकृत की प्राकृतिक क्षमता को उत्तेजित करके यकृत को शुद्ध करने में मदद कर सकते हैं.

अतीत में, मैंने अपने पसंदीदा सफाई करने वाले खाद्य पदार्थों पर चर्चा की है. इस आलेख में दी गई सूची में केवल उन चीजों को डाला गया है जो मुख्य रूप से आपके यकृत को शुद्ध करने में मदद कर सकती हैं. सामान्य यकृत के लिए आपको केवल कुछ आसान उपाय करने हैं. लीवर क्लीनिंग सप्लीमेंट और हर साल कम से कम २ लीवर एंड गालब्लैडर क्लीन्स के साथ

में, निम्न पदार्थों को खा कर आप अपने यकृत को स्वस्थ और सुचारू रख सकते हैं क्योंकि ये खाद्य पदार्थ इसके लिए बहुत ही प्रभावी हैं. मैं, आपको इन खाद्य पदार्थों को आपके आहार में शामिल करने के लिए प्रोत्साहित करता हूँ.

१. लहसुन

इसकी एक छोटी सी सफ़ेद कली में ही यकृत के एंजाइम को सक्रिय करने की क्षमता होती है, जो आपके शरीर से विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालने में मदद करती है. लहसुन में ऐलेसिन और सेलेनियम की अधिक मात्रा होती है, ये दो ऐसे प्राकृतिक यौगिक हैं जो कि लीवर की सफाई में सहायता करते हैं.

२. चकोतरा

इसमें विटामिन सी और एंटीऑक्सिडेंट दोनों ही उच्च मात्रा में होते हैं, साइट्रस फल जैसे चकोतरा, संतरा, लेमन और लाइम में लीवर की प्राकृतिक सफाई क्षमताओं को बढ़ाने की शक्ति होती है. जिगर के विषाक्त पदार्थों को खत्म करने वाले एंजाइमों का उत्पादन बढ़ाने के लिए ताजा- निचोड़े हुए अंगूर के रस का एक छोटे से ग्लास भर मात्रा में सेवन करें जो कि कार्सिनोजेन्स और अन्य विषाक्त पदार्थों से लड़ने में लीवर की मदद करता है.

Read next  औरत को 5 मिनट के अंदर चरम सुख कैसे दें

३. बीट्स और गाजर

ये दोनों ही फ्लैवोनोइड्स और बीटा-कैरोटीन से बेहद समृद्ध होते हैं; बीट्स और गाजर का सेवन करने से यकृत को अपने कार्य को सही तरह से करने के लिए प्रोत्साहन और समर्थन प्राप्त होता है.

४. ग्रीन टी

यह यकृत का खास ख्याल रखने वाला पेय एंटीऑक्सीडेंट से भरा होता है जिसे कैटेचिन-यौगिक के नाम से जाना जाता है. यह यकृत की इसके कार्य में सहायता करने के लिए जाना जाता है. हरी चाय किसी भी अन्य पेय की तुलना में स्वादिष्ट और स्वास्थ्यकारी होती है. इस बात का ख़ास ख्याल रखें कि हरी चाय लाभ प्रदान करती है, न की हरी चाय से निकाला हुआ निष्कर्ष. कुछ शोध से ऐसा पता चला है कि हरी चाय का निष्कर्ष यकृत के स्वास्थ्य पर नकारात्मक प्रभाव डाल सकता है. इसे सामन्य रखें और हरी चाय से बने पेय के फायदों का आनंद लें.

FREE Fast Shipping offer for our readers:

“3 दिन बाद से ही मुझे काफी बेहतर महसूस होने लगा। पेट में जलन और फुलाव कम हो गया। दो हफ्तों बाद मेरा जी मिचलाना पूरी तरह बंद हो गया और सुबह भी कोई समस्या नहीं होती थी। और आखिर में मुँह से आने वाली खराब बदबू भी चली गई। Healthy Liver पूरी तरह से प्राकृतिक है।…”

Healthy Liver ऑर्डर करें

५. हरी पत्तेदार सब्जियां

ये यकृत को साफ करने में सबसे शक्तिशाली सहयोगियों में से एक हैं, पत्तेदार साग को कच्चा, पका कर या रस में बना कर खाया जा सकता है. इसमें क्लोरोफिल की अत्यधिक मात्रा होती है, इनका हरापन रक्त प्रवाह से पर्यावरण के विषाक्त पदार्थों को खीच लेता है. इनकी भारी धातुओं, रसायनों और कीटनाशकों को बेअसर करने की विशिष्ट क्षमता से ये खाद्य पदार्थ यकृत को एक शक्तिशाली सुरक्षा तंत्र प्रदान करते हैं.

पत्तेदार सब्जियां जैसे कि करेला, अर्गुला, डंडेलियन, साग, पालक, सरसों का साग, और चिकोरी आदि को अपने आहार में शामिल करें. ये पित्त के उत्पादन और प्रवाह को बढ़ायेंगे- और पित्त ही वह पदार्थ है जो कि अंगों और खून से फालतू के पदार्थों को बाहर निकालता है.

Read next  लंबे समय तक सेक्स करने और सेक्स स्टैमिना बढ़ाने के उपाय - Sex stamina badhane ke upay in Hindi

६. एवोकैडो

यह पोषक तत्व शरीर में ग्लूटाथियोन के उत्पादन करने में मदद करता है, एक ऐसा यौगिक जो कि यकृत की हानिकारक और विषाक्त पदार्थों को साफ करने में मदद करता है.

७. सेब

इसमें पेक्टिन की उच्च मात्रा होती है, सेब में ऐसे ख़ास गुण एवं रासायनिक तत्व मौजूद होते हैं जो कि पाचन तंत्र से विषाक्त पदार्थों को साफ करने के लिए बहुत ही प्रभावी होते हैं. जिसके चलते साफ करने की प्रक्रिया के दौरान लीवर आसानी से विषाक्त पदार्थों के भार को संभाल लेता है.

८. जैतून का तेल

कोल्ड प्रेस्ड आर्गेनिक तेल जैसे जैतून, हेम्प, और फ्लाक्ससीड यकृत के लिए बहुत ही फायदेमंद होते हैं लेकिन इनका प्रयोग सीमित मात्रा में ही करना चाहिए. वे शरीर को एक लिपिड आधार प्रदान करके इसकी मदद करते हैं क्योंकि यह आधार शरीर से हानिकारक विषाक्त पदार्थों को अवशोषित कर लेता है. इस तरह से, यह यकृत के भार को कुछ कम कर देते हैं.

९. अल्टरनेटिव ग्रेन्स

यदि आपके आहार में गेहूं, आटा या अन्य मानक अनाज शामिल हैं, तो यह परिवर्तन करने का समय है. और अल्टरनेटिव ग्रेन्स जैसे क्यूईनोआ, मिलेट, और बकव्हीट आपकी मदद कर सकते हैं. आपका यकृत आपके शरीर के विषाक्त पदार्थों के लिए फ़िल्टर का कार्य करता है, और यदि आपमें कुछ ख़ास संवेदनशीलताएं हैं, तो ऐसे ग्रेन्स जिसमे ग्लूटेन होते हैं वे संवेदनशीलता और भी बढ़ा देते हैं. एक अध्ययन में पाया गया कि जो लोग ग्लूटेन से संवेदनशीलता का अनुभव करते हैं वे असामान्य यकृत एंजाइम का भी अनुभव करते हैं.

१०. सलीबधारी सब्जियां

ब्रोकोली और फूलगोभी ग्लूकोसिनॉलेट का अच्छा स्रोत होती हैं, जो जिगर में एंजाइम उत्पादन का समर्थन करती हैं. ये प्राकृतिक एंजाइम कार्सिनोजन और अन्य विषाक्त पदार्थों को शरीर से बाहर निकाल देती हैं, और कैंसर से जुड़े जोखिम को काफी हद तक कम कर देती हैं.

११. लेमन्स और लाइम्स

इन खट्टे फलों में विटामिन सी उच्च मात्रा में होती है, जो कि विषाक्त पदार्थों को संश्लेषित करने में शरीर की सहायता करती है, जिन्हें पानी से अवशोषित किया जा सकता है. सुबह में ताजा निचोड़े हुए लेमन या लाइम के रस का सेवन करने से यह जिगर को उत्तेजित कर देता है.

Read next  अपनी नाक को सही आकार में लाने के लिए ७ सर्वश्रेष्ठ एवं आसान कसरतें
१२. अखरोट

इसमें अमीनो एसिड और आर्जनाइन की उच्च मात्रा मौजूद होती है, अखरोट लीवर से अमोनिया को निकालने में मदद करता है. अखरोट में ग्लूटाथियोन और ओमेगा -3 फैटी एसिड की भी अधिक मात्रा होती है, जो सामान्य यकृत के कार्यों में इसकी मदद करती है. साथ ही इस बात को सुनिश्चित करें कि आप अच्छी तरह से चबाने के बाद में ही अखरोट को गले से नीचे उतारें.

१३ पत्तागोभी

यह ब्रोकोली और फूलगोभी की तरह ही होती है, पत्तागोभी खाने से जिगर में विषाक्त पदार्थों को निकलने वाले एंजाइम का उत्पादन बढ़ जाता है. अपने आहार में शामिल करने के लिए किम्ची, कोल्स्ला, पत्तागोभी का सूप, और खट्टी गोभी आदि बहुत ही प्रभावी हैं.

१४. हेल्दी लीवर

हेल्दी लीवर, लीवर का पसंदीदा उत्पाद है. अपने अगले लेंटिल स्टू या सब्जी में इसकी कुछ मात्रा मिलाएं क्योंकि इसमें विषाक्त पदार्थों को बाहर निकाल फेकने की अद्भुत शक्ति मौजूद होती है. हेल्दी लीवर, यकृत से विषाक्त पदार्थों को निकाल कर एंजाइमों की सहायता करता है और इनके उत्पादन को बढ़ावा देने में मदद करता है.

यह सुनहरा मसाला सभी प्रकार के व्यंजनों में बहुत ही स्वादिष्ट लगता है, लेकिन आप हल्दी के पूरक के साथ अपने सेवन को और भी अधिक बढ़ा सकते हैं. खतरे से सम्बंधित एक चेतावनी: हल्दी अक्सर कम-गुणवत्ता वाली सामग्री के लिए और हानिकारक पदार्थों की मिलावट के लिए कुख्यात है [इसलिए सबसे सम्मानित स्रोतों से उच्चतम गुणवत्ता वाली ही हल्दी खरीदें. मैं आपको ग्लोबल हीलिंग सेंटर के हेल्दी लीवर सप्लीमेंट के प्रयोग के लिए प्रोत्साहित करता हूँ. यह प्रीमियम लिक्विड सप्लीमेंट अपने आप में शक्तिशाली एंटीऑक्सिडेंट को संजोयें हुए है और इसे केवल आर्गेनिक कर्कुमा लोंगा रूट के स्रोत से ही प्राप्त किया जाता है.

Healthy Liver ऑर्डर करें

Comments

(0 Comments)

Your email address will not be published. Required fields are marked *

  • Lucknow
  • Indore
  • New Delhi
  • Ahmedabad
  • Jaipur
  • Pune
  • Patna
  • Agra
  • Mumbai
  • Chandigarh
  • Bengaluru
  • Kolkata
  • Hyderabad
  • Chennai
  • Guwahati
  • Bhopal
  • Sonipat
  • Shimla
  • Bhubaneswar
  • Coimbatore
  • Gurgaon
  • Ludhiana
  • Jammu
  • Durgapur
  • Rohtak
  • Panipat
  • Kochi
  • Kozhikode
  • Dehradun
  • Ghaziabad
  • Kanpur
  • Noida
  • Meerut
  • Siliguri
  • Anantapur
  • Jamshedpur
  • Surat
  • Vadodara
  • Srinagar
  • Belgaum
  • Shivamogga
  • Kota
  • Allahabad
  • Moradabad
  • Ranchi
  • Raipur
  • Bhilai
  • Kalyan
  • Thane
  • Navi Mumbai