क्या आध्यात्मिक और शारीरिक स्वास्थ्य के लिए तंत्र का अभ्यास जरुरी है?

तंत्र, जिसका मतलब है “बुनाई” की अवधारणा , उसका तात्पर्य आपकी इंद्रियों, भावनाओं और ऊर्जा के प्रति जागरूकता बढ़ाकर आपके शरीर, दिमाग और आत्मा को विस्तारित करने से है। मेडिटेशन से अपने आप को जागरूक रखना मौलिक तत्व होता है; तंत्र के अंतर्गत आपकी यौन ऊर्जा भी आती है और जिसके कारण खुशी महसूस करने की आपकी क्षमता बढ़ जाती है

तंत्र हजारों साल पहले शुरू हुआ (विद्वानों का मानना है कि ये भारत में था या मिस्र में), और यह परंपरागत हिंदू, जैन और बोनपो धार्मिक प्रथाओं में निहित है।

मंदिर की दीवारों पर की गई पेंटिंग्स और नक्काशी में यौन मेल-जोल के साथ ही पुरुषों और स्त्रियों की ऊर्जा (जिसे तंत्र में “शिव” और “शक्ति” के रूप में जाना जाता है) देखने को मिलती है। हाल ही में पश्चिमी दुनिया के लोगों ने इस अभ्यास में अपनी रुचि दिखाई है।

तंत्र समग्र रूप से चिकित्सा का एक प्रकार है जो आपके स्वास्थ्य को प्रभावित कर सकता है। आज के समय में, ज्यादातर हम अपने विचारों, निर्णयों, मूल्यांकनों और आकलनों को लेकर अपने आप में ही डूबे रहते हैं। हम अपने शरीर द्वारा दिए गए संकेतों को अनदेखा करते हैं, क्योंकि हम केवल दिमाग को ही अधिक महत्व देना जानते है।

इसलिए, हम में से अधिकांश लोग सुस्त रहते हैं और तब हम खुद को बुरे, बीमार, चोटिल और/या पीड़ित व्यक्ति के रूप में महसूस करते हैं। सुख को हम बहुत कम जगह देते हैं; हम में से ज्यादातर लोग सुख प्राप्त (शरीर में महसूस होने वाली कामुकता के बजाय) करने की उम्मीद करते हैं। Read more “क्या आध्यात्मिक और शारीरिक स्वास्थ्य के लिए तंत्र का अभ्यास जरुरी है?”


कमजोर लिंगोत्थान: कारण क्या हैं, क्या करना है और इस अवस्था के इलाज के उपाय

लिंगोत्थान संबंधी दुष्क्रिया एक गंभीर मुद्दा है, हालांकि कई पुरुष इसे आपात संकट को भांप कर जागरूक हो जाने के लिए एक संकेत के रूप में नहीं लेते हैं। यौन संबंध रखने में असमर्थता को अक्सर बुढ़ापे, थकान या तनाव से जोड़ा जाता है; हालांकि ज्यादातर मामलों में लिंगोत्थान संबंधी दुष्क्रिया का कारण पूरी तरह से जैविक होता है। इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि कारण क्या हैं, पर यह अवस्था असामान्य जरूर है। एक स्वस्थ पुरुष अपने पूरे जीवन के दौरान यौन गतिविधियों को चालू रखने में सक्षम होता है। हर किसी को (अपने) इस समस्या का अध्ययन करने की सिफारिश की जाती है ताकि अक्षमता के कारणों की पहचान हो सके और इसके लक्षणों को यथाशीघ्र पहचान लिया जा सके।

Read more “कमजोर लिंगोत्थान: कारण क्या हैं, क्या करना है और इस अवस्था के इलाज के उपाय”


पुरुष रजोनिवृत्ति। यह क्या होती है और इससे कैसे निपटें?

 

रजोनिवृत्ति का अर्थ है उम्र और आंतरिक बदलावों के कारण मानव प्रजनन प्रणाली का धीरे-धीरे क्षय होना।

सामान्य तौर पर माना जाता है कि रजोनिवृत्ति केवल औरतों में होती है। लेकिन यह सही नहीं है। पुरुषों को भी ऐसे ही प्रभावों का सामना करना पड़ सकता है। डॉक्टर कई बार इस पीरियड को एंड्रोपौज़ (महिलाओं के मीनोपौज़ की तरह) कहते हैं।

Read more “पुरुष रजोनिवृत्ति। यह क्या होती है और इससे कैसे निपटें?”


क्या इरेक्टाइल डिसफंक्शन (स्तंभन-दोष) संभावी हृदय रोगों का संकेत है?

कई लोग इरेक्टाइल डिसफंक्शन (खड़े होने में समस्याएँ या स्तंभन-दोष) को एक अलग घटना के रूप में देखते हैं। सच यह है कि बार-बार स्तंभन दोष होना किसी बड़ी समस्या का संकेत हो सकता है। कोई ऐसी समस्या, जो खतरनाक और जानलेवा भी हो सकती है। यह समस्या है हृदय रोग।

Read more “क्या इरेक्टाइल डिसफंक्शन (स्तंभन-दोष) संभावी हृदय रोगों का संकेत है?”


इरेक्टाइल डिसफंक्शन। लक्षण और इलाज

जब कोई पुरुष लिंग खड़ा करने और उसे खड़ा रखने में असमर्थ होता है तो इसे इरेक्टाइल डिसफंक्शन कहते हैं। आम तौर पर यह अस्थायी समस्या होती है लेकिन ऐसे दीर्घकालिक मामले भी होते हैं जिससे कई पुरुष क्वालिटी सेक्स जीवन नहीं जी पाते।

परिचय

अधिकतर पुरुषों को अपने जीवन में कभी-न-कभी इस समस्या का सामना करना पड़ता है। कई लोगों ने महसूस किया होगा कि उनका लिंग अचानक खड़ा होना बंद हो जाता है या जरूरत के समय खड़ा नहीं हो पाता। इसमें घबराने वाली कोई बात नहीं होती। ये कोई अच्छी चीज नहीं है लेकिन ऐसा होता है। सबसे पहले समस्या के प्रकार के बारे में जानने की जरूरत होती है, और इसके बाद ही इसे ठीक करने के लिए कदम उठाए जा सकते हैं।
इरेक्टाइल डिसफंक्शन 2 प्रकार का होता है: Read more “इरेक्टाइल डिसफंक्शन। लक्षण और इलाज”


वीर्य क्या है और वीर्य कैसे बनता है?

मर्दों में लिंग के खड़े होने के समय और पानी छूटने के समय जो तरल पदार्थ निकलता है उसे वीर्य कहते हैं. यह प्रोस्टेट ग्रंथि एवं अन्य प्रजनन अंगों से शुक्राणुओं और तरल पदार्थों के संयोग से बनता है. आमतौर पर वीर्य गाढ़ा सफेद होता है, यद्यपि विभिन्न कारणों के चलते इसके रंग एवं गुणवत्ता में बदलाव भी आ जाते हैं. अगर आपका वीर्य पतला है तो इसका यह तात्पर्य होता है कि आपके वीर्य में शुक्राणुओं की संख्या कम है, ऐसे में आपकी प्रजनन क्षमता भी प्रभावित होती है. अगर आप भी पतले वीर्य की समस्या से ग्रसित हैं तो इसमें परेशान होने की जरूरत नहीं है. आज हम आपको वीर्य के बारे में सब कुछ बताएंगे कि वीर्य क्या है, कैसे बनता है, वीर्य के पतलेपन को कैसे दूर करें, और इसे कैसे गाढ़ा बनाएं? इन सभी प्रयोगों में हम घरेलू नुस्खों की बात करेंगे.

(और पढ़ें – सेक्स के बारे में जानकारी और sex karne ke tarike)

  1. वीर्य क्या है – What is semen in Hindi
  2. वीर्य कैसे बनता है – How is semen produced in hindi
  3. वीर्य पतला होने के कारण – Causes of watery semen in Hindi
  4. वीर्य को गाढ़ा करने के उपाय व घरेलू नुस्खे – Home remedies to thicken semen in Hindi

Read more “वीर्य क्या है और वीर्य कैसे बनता है?”


मर्दाना ताकत बढ़ाने के उपाय – Mardana takat badhane ke tarike in Hindi

आजकल बहुत सारे लोग अपनी लाइफ को बहुत रोमांचक बनाने के बारे में सोचते रहते हैं, ऐसे में अगर आपकी कहानी भी ऐसी है तो इसमें एकदम नई बात नहीं है. कौन अपने जीवन में रोमांचक पल नहीं चाहता है? लेकिन हमेशा लोग अपने संभोग जीवन को बेहतर बनाने के लिए केवल और केवल सेक्स पावर को बढ़ाने में ही लग जाते हैं. इसके साथ-साथ ऐसा बहुत बार होता है कि लोग कहीं ऐसे उपाय खोजने लगते हैं जिनसे वे अपनी सेक्स क्षमता को बेहतर बना सकें.

(और पढ़ें – गर्भावस्था में सेक्स करें या नहीं)

आज कल आपको मार्केट में बहुत सारी दवाइयां मिल जाएंगी जो मर्दाना ताकत को बढ़ाने का दावा करती है. लेकिन अगर सतही तह पर आएं आपको पता लगेगा कि ताकत बढ़ाने के लिए आपको किसी प्रकार की दवाई की आवश्यकता नहीं है. वास्तव में आप जैसा चाहें वैसे शरीर का निर्माण कर सकते हैं और उसी तरह से शरीर अपनी क्षमताओं में वृद्धि करेगा. इसके लिए केवल और केवल आपको अपनी दिनचर्या में बदलाव लाना होगा.

देखा जाए तो आपके लिंग की परफॉर्मेंस केवल और केवल आप पर निर्भर करती है, इसलिए आपको कोशिश करके हमेशा रक्त को सुचारु रुप से प्रवाहित होने देना चाहिए. आपका हृदय इसका स्रोत है इसलिए अगर आप अपने हृदय का ख्याल रखते हैं तो आपका रक्त प्रवाह सुचारु रुप से होगा. जिसका सीधा सा मतलब है कि इसका सीधा फर्क आपकी संभोग क्षमता पर पड़ेगा. संभोग क्षमता बढ़ाने वाले कुछ उपायों के बारे में विस्तार से चर्चा करते हैं.

(और पढ़ें – स्टेमिना बढ़ाने के लिए क्या करें)

Read more “मर्दाना ताकत बढ़ाने के उपाय – Mardana takat badhane ke tarike in Hindi”


स्तंभन दोष (नपुंसकता)

स्तंभन दोष (नपुंसकता) की समस्या बहुत आम है, खास तौर पर 40 से अधिक उम्र के पुरुषों में। सामान्यतः इसके बारे में चिंता करने की ज़रूरत नहीं है, पर अगर यह बराबर होता रहता है तो आपको डॉक्टर से मिलना चाहिए।

स्तंभन दोष के कारण

अधिकतर पुरुष लिंग खड़ा करने या उसे खड़ा रखने में विफल हो जाते हैं।

ऐसा अक्सर तनाव, थकान, व्यग्रता या अधिक शराब पीने की वजह से होता है, पर इसके बारे में चिंता करने की ज़रूरत नहीं।

अगर ऐसा अक्सर होता है तो यह शारीरिक या भावनात्मक समस्याओं के कारण हो सकता है। Read more “स्तंभन दोष (नपुंसकता)”


टेस्टोस्टेरोन कम होने के 9 लक्षण

टेस्टोस्टेरोन एक हॉरमोन है जो मानव शरीर बनाता है। यह पुरुषों में मुख्यतः अंडकोषों में उत्पादित होता है और पुरुष की कद-काठी और सेक्स विकास पर प्रभाव डालता है। यह शुक्राणु उत्पादन और पुरुष कामेच्छा को भी उत्प्रेरित करके माँसपेशियों तथा हड्डियों के बनने में भी मदद करता है। अमेरिकन यूरोलॉजिकल असोशिएशन के अनुसार 60 साल से अधिक उम्र के 10 में से 2 पुरुषों में टेस्टोस्टेरोन कम पाया जाता है। 70 या 80 से ज्यादा उम्र वालों में यह संख्या बढ़कर 10 में से 3 हो जाती है।

यदि पुरुषों में टेस्टोस्टेरोन एक स्तर से कम हो जाए तो कई तरह के लक्षण परिलक्षित हो सकते हैं। यू. एस. फूड एंड ड्रग एड्मिनिसट्रेशन के अनुसार खून में टेस्टोस्टेरोन का स्तर 300 नैनोग्राम प्रति डेसीलीटर (एनजे/डीएल) से कम हो जाने पर इसे टेस्टोस्टेरोन की कमी या लो-टी माना जाता है। शरीर में टेस्टोस्टेरोन की मात्रा सीरम टेस्टोस्टेरोन नामक एक टेस्ट से मापी जाती है।

यदि शरीर में टेस्टोस्टेरोन स्तर सामान्य से नीचे हो जाए तो कई तरह के लक्षण परिलक्षित हो सकते हैं। लो-टी के लक्षण धीमे-धीमे आ सकते हैं। पुरुषों में लो-टी के लक्षणों के बारे में और जानने के लिए आगे पढ़ें।

Read more “टेस्टोस्टेरोन कम होने के 9 लक्षण”


स्तंभन दोष (ठीक से खड़ा न होना) के लिए 6 प्राकृतिक इलाज

स्तंभन दोष या अँग्रेजी में इरेक्टाइल डिसफंक्शन (ईडी) को नामर्दी भी कहा जाता है। इस बीमारी में मर्द सेक्स के समय ठीक से खड़ा नहीं कर पाता या फिर खड़े होने पर उसे मेनटेन नहीं कर पाता। इसके लक्षणों में कामेच्छा या काम वासना का कम हो जाना भी शामिल हो सकते हैं। यदि ऐसा लगातार कुछ हफ्तों या महीनों से चल रहा हो तो आपके डॉक्टर स्तंभन दोष की पुष्टि कर देते हैं। अमेरिका में लगभग 3 करोड़ पुरुष स्तंभन दोष से ग्रस्त हैं।

Read more “स्तंभन दोष (ठीक से खड़ा न होना) के लिए 6 प्राकृतिक इलाज”

  • Lucknow
  • Indore
  • New Delhi
  • Ahmedabad
  • Jaipur
  • Pune
  • Patna
  • Agra
  • Mumbai
  • Chandigarh
  • Bengaluru
  • Kolkata
  • Hyderabad
  • Chennai
  • Guwahati
  • Bhopal
  • Sonipat
  • Shimla
  • Bhubaneswar
  • Coimbatore
  • Gurgaon
  • Ludhiana
  • Jammu
  • Durgapur
  • Rohtak
  • Panipat
  • Kochi
  • Kozhikode
  • Dehradun
  • Ghaziabad
  • Kanpur
  • Noida
  • Meerut
  • Siliguri
  • Anantapur
  • Jamshedpur
  • Surat
  • Vadodara
  • Srinagar
  • Belgaum
  • Shivamogga
  • Kota
  • Allahabad
  • Moradabad
  • Ranchi
  • Raipur
  • Bhilai
  • Kalyan
  • Thane
  • Navi Mumbai