स्खलन को देर तक रोके रहने की तकनीकें

शीघ्रपतन को कैसे रोक सकते हैं

प्रमुख बिंदु

  • शीघ्र स्खलन के इलाज करने के कई तरीके हैं, उन तरीकों में से आपके लिए कौन तरीका सबसे बेहतर यह जानने के लिए आपको उन्हें आजमाना होगा.
  • कुछ पुरुषों को लगता है कि प्रारंभिक रणनीतियां जैसे स्टार्ट-स्टॉप तकनीक और स्कवीज़ तकनीक उन्हें मदद करती है.
  • मोटे कंडोम से लिंग की संवेदनशीलता कम हो जाती है जिससे सेक्स के दौरान आप लंबे समय तक टिके रह पाते हैं.
  • शीघ्र स्खलन के लिए २ उपचार हैं एम्ला क्रीम और प्रिलिजी टैबलेट. एम्ला क्रीम लिंग को सुन्न करके इसकी संवेदनशीलता को कम कर देती है, जबकि प्रिलिजी टैबलेट आपको स्खलन पर बेहतर नियंत्रण प्राप्त करने में मदद करते हैं.

एक अनुमान के अनुसार लगभग ३०% पुरुष अपने जीवन में किसी न किसी बिंदु पर शीघ्र स्खलन का सामना करते हैं, जिससे बहुत ही अधिक तनाव उत्पन्न होता है.

विभिन्न संस्कृतियों, देशों और विशेषज्ञों के आधार पर, सेक्स के शुरूआती ३० सेकंड से ४ मिनट तक स्खलन होने पर इसे शीघ्र स्खलन के रूप में देखा जा सकता है. हालांकि, ज्यादातर लोग इस बात से सहमत होते हैं कि २ मिनट से भी कम समय तक चलने वाले किसी भी यौन संभोग को शीघ्र स्खलन का दर्ज़ा दिया जा सकता है.

व्यवहारिक तकनीकों की मदद से आप स्खलन में देरी कर सकते हैं. इनमें स्टार्ट-एंड-स्टॉप विधि और स्कवीज़ तकनीक शामिल है.

सेक्सुअल काउंसलिंग और दवा के साथ इन तकनीकों का संयोजन (या तो किसी एनेस्थेटिक क्रीम, जैसे एम्ला या ओरल टैबलेट, जैसे कि प्रिलिजी) की सिफारिश की जाती है.

Xtra-man cream

शीघ्र स्खलन क्या है?

शीघ्र स्खलन वह स्खलन होता है जिसमे एक आदमी का वीर्य लिंग को योनि में डालने के थोड़ी देर बाद ही निकल जाता है और उसका साथी सेक्स का आनंद नहीं ले पाता है. शीघ्र स्खलन २ प्रकार के होते हैं: आजीवन (या प्राथमिक) और अक्वायर्ड (या माध्यमिक).

आजीवन शीघ्र स्खलन की समस्या जल्दी शुरू होती है, आमतौर पर तब जब आप किशोरावस्था में पहली बार यौन संबंधों का अनुभव कर रहे होते हैं. इसका इलाज कर पाना कठिन होता है, इसके पीछे अक्सर गहरे मनोवैज्ञानिक कारण भी होते हैं. इसमें बुरी आदतें भी योगदान दे सकती हैं (जैसे हस्तमैथुन करते हुए पकड़े जाने से बचने के लिए जितनी जल्दी हो सके उतनी जल्दी पानी निकालने की कोशिश करना).

Read next  How to prolong intercourse and boost sexual performance?

अक्वायर्ड शीघ्र स्खलन की समस्या जीवन में बाद में होती है, यह आमतौर पर मनोवैज्ञानिक (तनाव या रिश्तों से जुड़े मुद्दों) या शारीरिक कारणों (मधुमेह या उच्च रक्तचाप) द्वारा शुरू होता है.

मैं स्खलन को देर तक कैसे रोक सकता हूँ?

शीघ्र स्खलन से बचने के लिए तरह-तरह की जुगाड़ें मौज़ूद हैं जैसे, समय-समय पर यौन संबंध बनाते रहना, यौन संबंध से कुछ घंटे पहले हस्तमैथुन कर लेना, या फिर महिला को अपने ऊपर लिटा कर यौन संबंध बनाना आदि.

मोटा कॉन्डोम: कॉन्डोम की मोटी पर्त लिंग की संवेदनशीलता को कम कर सकती है.

व्यवहारिक रणनीतियां: “स्टार्ट-स्टॉप” और “स्कवीज़ तकनीक” अक्सर प्रभावी साबित होती हैं, लेकिन इनसे दीर्घकालिक समाधान नहीं मिलता है.

इन तकनीकों से शीघ्र स्खलन की समस्या को खत्म होने में कुछ महीने लग सकते हैं और वहीं कई पुरुषों को स्थायी तौर पर इन तकनीकों का उपयोग करना पड़ता है.

औसतन, इन यौन तकनीकों का उपयोग करने वाले पुरुषों में से ५०% से ९५% लोगों को शीघ्र स्खलन की समस्या से निज़ात मिल जाती है. यदि आपके यौन जीवन में बहुत बड़े बदलाव आते हैं (उदाहरण के लिए नये साथी का आना, तनावपूर्ण घटना), विशेष रूप से यदि आप चिंतित हैं तो शीघ्र स्खलन की समस्या फिर से आ सकती है. आम तौर पर, जीवन में जितनी जल्दी आप इन तकनीकों को बेहतर तरीके से सीख लेते हैं, आपके लिए ये तकनीकें उतनी ही फ़ायदेमंद साबित होती हैं.

वे लोग जो अत्यधिक चिंता करने के बजाय अधिक संवेदनशील होते हैं, उन्हें इन व्यवहारिक तरीकों से लाभ नहीं होता है क्योंकि उनके शीघ्र स्खलन के कारण अलग होते हैं.

इन मरीजों के लिए, संवेदनशीलता को कम करने वाली दवाएं (उदाहरण के लिए, एम्ला क्रीम, या प्रिलिजी ओरल टैबलेट) की सिफारिश की जाती है. ये उनके लिए बेहतर समाधान होते हैं क्योंकि इनसे स्खलन के नियंत्रण में सुधार आता है. इन्हें शीघ्र स्खलन के दीर्घकालिक समाधान के रूप में लिया जा सकता है, लेकिन ये शीघ्र स्खलन के अंतर्निहित कारणों को ठीक नहीं करते हैं.

Read next  28 कारक जिनसे शीघ्रपतन होता है। समस्या के हल

“स्टार्ट-स्टॉप” तकनीक क्या है?

यह अब तक की सबसे सरल तकनीक है और इसे अकेले या फिर किसी साथी के साथ किया जा सकता है.

इस तकनीक में लिंग को उत्तेजित किया जाता है और जिस समय आपको लगने लगता है कि आपका वीर्य निकलने वाला है, उसी समय आप उत्तेजना को बंद कर देते हैं. ३०-६० सेकेंड के लिए उत्तेजना को रोकें और एक बार जब आप महसूस करने लगें कि आपने नियंत्रण हासिल कर लिया है तो इसकी फिर से शुरूआत करें. इस प्रक्रिया को ४-५ बार करें, जैसे आपको स्खलन का आभास हो वैसे ही रुकें और “आराम करें”. अंत में, स्खलन को हो जाने दें, ताकि आप “नो-रिटर्न पॉइंट” की पहचान कर सकें.

हालांकि, कई जोड़े और साथी इस “तकनीक” की असुविधा के बारे में शिकायत करते हैं और इसे निराशाजनक पाते हैं. इसे सेक्स में आसानी से शामिल करने का प्रयास करें और आराम के समय केवल यौनिक सेक्स पर ध्यान देने के बजाय अन्य उत्तेजना वाले स्रोतों पर भी ध्यान केंद्रित करें.

“स्कवीज़” तकनीक क्या है?

“स्कवीज़” तकनीक में शाफ्ट और ग्लान्स के बीच के क्षेत्र में निचोड़ा (लगभग ३० सेकंड के लिए) जाता है, इस निचोड़ने की प्रक्रिया को तभी करते हैं जब आपको महसूस होने लगे कि आपका वीर्य निकलने वाला है. यह स्खलन रोकता है, लेकिन यह आपके कड़ेपन को प्रभावित कर सकता है, कम से कम जब तक आपको पुनः उत्तेजना नहीं मिलती है. आपको इस प्रक्रिया को ४-५ बार करना चाहिए जब तक कि आप ओर्गाज्म करने के लिए ख़ुद से तैयार न हो जाएँ.

इस विधि के प्रभावी होने के लिए इस विधि का कई महीनों तक उपयोग किया जाना चाहिए, इसमें पुरुष और उसके साथी को बहुत ही दृढ़ता से काम लेना पड़ता है.

Read next  संभोग के दौरान खड़ापन चला जाना। क्या करना चाहिए?

“स्कवीज़” तकनीक का सिद्धांत यह है कि कुछ समय के प्रयोग बाद, आप “पॉइंट ऑफ़ नो रिटर्न” को पहचानने में सक्षम हो जायेंगे और भविष्य में इसी की मदद से स्खलन में देरी कर सकते हैं. हालांकि यह तकनीक निराशाजनक हो सकती है क्योंकि यह यौन गतिविधियों को बाधित करती है.

अन्य विकल्प क्या हैं?

अगर “स्टार्ट-स्टॉप” और “स्कवीज़” तकनीक को निम्न तकनीकों के साथ जोड़ दिया जाए तो वे और अधिक प्रभावी साबित होती हैं:

  • किसी अन्य विषय के बारे में सोचें: कुछ विचलित करने वाला, उबाऊ या फिर परेशान करने वाला
  • स्खलन से पहले एक गहरी सांस लें: यह स्खलन और उत्तेजना को धीमा कर ओर्गाज्म में देरी कर सकता है.

अपने साथी की देखभाल करें

फोरप्ले को लम्बा करने से आपका साथी भी संतुष्ट हो सकता है वहीं आपके स्खलन में भी देरी हो सकती है. लम्बे फोरप्ले से असंतोष, निराशा और प्रदर्शन से संबंधित चिंतायें कम होती हैं जिससे आपके रिश्ते में सुधार आ सकते हैं.

इस बात पर ध्यान दें कि सेक्स के दौरान जितना अधिक दबाव पुरुष महसूस करेगा, उतनी ही अधिक शीघ्र स्खलन की संभावना होगी.

आपसी बातचीत से काफ़ी समस्याओं को सही किया जा सकता है, और अगर आपके और आपके साथी के बीच विसंगतियां हैं तो उन्हें भी दूर किया जा सकता है.

सर्वश्रेष्ठ सुझाव क्या हैं?

मोटे कॉन्डोम: अगर आपको लगता है कि आपका लिंग बहुत ही संवेदनशील है तो इन्हें आजमाएं. वे लिंग की संवेदनशीलता को कम करने में मदद कर सकते हैं.

अन्य यौन सुखों पर ध्यान केंद्रित करें: इससे आपकी चिंता कम हो सकती है और आप स्खलन पर बेहतर नियंत्रण प्राप्त कर सकते हैं.

अपने डॉक्टर से बात करें: शीघ्र स्खलन का इलाज आसानी से संभव है.

Xtra-man cream

Comments

(0 Comments)

Your email address will not be published. Required fields are marked *

  • Lucknow
  • Indore
  • New Delhi
  • Ahmedabad
  • Jaipur
  • Pune
  • Patna
  • Agra
  • Mumbai
  • Chandigarh
  • Bengaluru
  • Kolkata
  • Hyderabad
  • Chennai
  • Guwahati
  • Bhopal
  • Sonipat
  • Shimla
  • Bhubaneswar
  • Coimbatore
  • Gurgaon
  • Ludhiana
  • Jammu
  • Durgapur
  • Rohtak
  • Panipat
  • Kochi
  • Kozhikode
  • Dehradun
  • Ghaziabad
  • Kanpur
  • Noida
  • Meerut
  • Siliguri
  • Anantapur
  • Jamshedpur
  • Surat
  • Vadodara
  • Srinagar
  • Belgaum
  • Shivamogga
  • Kota
  • Allahabad
  • Moradabad
  • Ranchi
  • Raipur
  • Bhilai
  • Kalyan
  • Thane
  • Navi Mumbai