वज़न कम करने के लिए ग्रीन कॉफ़ी – क्या इससे मदद होती है या नहीं?

वज़न कम करने के लिए ग्रीन कॉफ़ी – क्या इससे मदद होती है या नहीं?

तुरंत वज़न कम करने के लिए ग्रीन कॉफ़ी एक लोकप्रिय और स्वास्थ्यवर्धक पेय है। ग्रीन कॉफ़ी से बिना परहेज़, बिना व्यायाम वज़न घटाया जा सकता है। कम से कम उत्पादकों का यही दावा है। पर सच्चाई क्या है?

इस लेख में हम ग्रीन कॉफ़ी के स्वास्थ्य संबंधी लाभ और हानि के बारे में बताएंगे।

ग्रीन कॉफ़ी के स्वास्थ्य संबंधी लाभ और हानि

कॉफ़ी के आदी लोग इस पेय के अनोखे स्वाद और खुशबू को बहुत पसंद करते हैं। वज़न कम करने की चाहना रखने वाली महिलाएं और पुरुष उपवास के दौरान ग्रीन कॉफ़ी पीते हैं। माना जाता है कि ग्रीन कॉफ़ी मेटाबोलिज़्म को बढ़ा देती है और व्यक्ति को ऊर्जावान बनाने के लिए, किसी भी अधिक कैलोरी वाले भोजन से अधिक असरदार है।

हालांकि, चिकित्सक ग्रीन कॉफ़ी के लिए काफ़ी मिला-जुली प्रतिक्रिया देते हैं। कुछ चिकित्सकों का मानना है कि कुछ पुरानी बीमारियों से पीड़ित लोगों को इससे नुकसान हो सकता है। अन्य चिकित्सकों के अनुसार यह सभी तरह के लोगों के लिए कारगर है, सबके लिए बढ़िया है और स्वास्थ्य और अच्छे मन के लिए अमृत की तरह है।

ग्रीन कॉफ़ी व वज़न कम करने के लिए प्रयुक्त अन्य उत्पादों में क्या अंतर है?

विविध प्रकार की ग्रीन कॉफ़ी की ग्रेडिंग और कड़ापन, आदि भिन्न होते हैं। ग्रीन कॉफी को भूनना ज़रूरी नहीं होता। इसलिए अगर ग्रीन कॉफ़ी का प्रयोग वज़न कम करने वाले पेय के रूप में करना है तो यह मानदंड महत्वहीन है। ग्रीन कॉफ़ी की बेहतर किस्में स्वास्थ्यवर्धक अनुपूरक से समृद्ध होती हैं।

FREE Fast Shipping offer for our readers:

  • Fast weight
    loss with no relapses
  • Does not cause
    digestive disorders
  • Completely natural, ecologically pure supplement of plant origin
  • Clinically tested and is fully endorsed by the National Institute of Nutrition

ORDER NOW WITH 50% DISCOUNT

ग्रीन कॉफ़ी के पेय में क्या घटक हो सकते हैं?

  • कॉफ़ी के बीज। इस पेय में यह मुख्य पदार्थ है। ये शरीर से विषाक्त पदार्थों और अतिरिक्त द्रव को निकालने में मदद करते हैं, चमड़ी के नीचे की वसा को जलाते हैं और मेटाबोलिज़्म बढ़ाते हैं।
  • ग्रीन चाय की पत्तियाँ। ये आपके शरीर से अतिरिक्त कॉलेस्ट्रॉल कम करती हैं।
  • एल-कार्नीटाइन। यह वसा विभाजन को बढ़ाता है और माँसपेशियों को मज़बूत करता है।
  • अदरक। इससे पाचन क्रिया बेहतर होती है। और यह कैंसर के ट्यूमर बनने से रोकती है।

आप देख ही सकते हैं कि इस पेय में शामिल सामग्री सुरक्षित है। इसीलिए, वज़न कम करने के लिए ग्रीन कॉफ़ी बहुत लोकप्रिय है। इसका प्रयोग करने वाले हज़ारों लोग काफ़ी वज़न घटने और मनोदशा व कार्य क्षमता बेहतर होने के बारे में बताते हैं।

ग्रीन कॉफ़ी वज़न कम करने में किस तरह मदद करती है?

चमड़ी के नीचे, वसा की कोशिकाओं में, मानव शरीर में भोजन के माध्यम से प्राप्त पदार्थों के संश्लेषण के कारण सक्रिय विभाजन होता है। ये पदार्थ जितने अधिक होंगे, कोशिकाओं का विभाजन उतना ही सक्रिय होगा, जिनके परिणामस्वरूप वसा ऊतकों की मात्रा बहुत बढ़ जाती है।

वसा ऊतकों को बढ़ावा देने वाले पदार्थों के कम होने से वज़न कम होने लगता है। बाहरी कारक भी समान रूप से महत्वपूर्ण हैं। जैसे आपके मेटाबोलिज़्म की स्थिति, आहार और हारमोन्स। कोर्टिज़ोन हारमोन की भूमिका विशेषतः महत्वपूर्ण है। इस हारमोन के उत्पादन से आपके शरीर से अधिक ऊर्जा व्यय होती है। भोजन से पर्याप्त ऊर्जा न मिलने पर, आपका शरीर उसे वसा कोशिकाओं से लेने लगता है। कोर्टिसोल वसा कोशिकाओं को महीन घटकों में तोड़ देता है, जो प्रोटीन से जुड़कर रक्त में शामिल हो जाते हैं। स्वास्थ्यवर्धक तत्व आपके पूरे शरीर में वितरित हो जाते हैं और अतिरिक्त वसा थॉयराइड ग्रंथि के हारमोन थायरॉक्सीन की मदद से जल जाती है।

ग्रीन कॉफ़ी कोर्टिसोल के संश्लेषण को सक्रिय कर देती है। इसके अलावा, यह रक्त में शर्करा की मात्रा को नियंत्रित करती है, और वसा के विभाजन को तेज़ करती है। इस पेय से वज़न घटने की प्रक्रिया दोगुनी हो जाती है। वज़न कम होने के साथ-साथ आयतन भी कम हो जाता है। यह सब परहेज़ और कष्टदायी व्यायाम के बिना!

ग्रीन कॉफ़ी बनाने में अधिक समय नहीं लगता है। यह सामान्य, बीजों वाली कॉफ़ी या पिसी हुई कॉफ़ी की तरह ही बनती है। इस पेय को 30 दिनों तक रोज़ाना 1-2 कप पीने की सलाह है।

ग्रीन कॉफ़ी किसे नहीं पीनी चाहिए?

काली कॉफ़ी की तरह ही ग्रीन कॉफ़ी में भी कैफ़ीन होती है। जो डोपामाइन के संश्लेषण को सक्रिय करती है। अधिक मात्रा में पीने से इस की लत पड़ सकती है। खुशी की बात यह है कि हर किसी को इसकी लत नहीं होती और लत छुड़ाना आसान है। आपको बस ग्रीन कॉफ़ी की जगह सामान्य चाय पीना शुरू कर देना चाहिए और एक महीने के अंदर इसकी आदत छूट जाएगी।

जैसा पहले भी बताया गया है, वज़न कम करने के लिए ग्रीन कॉफ़ी बिल्कुल सुरक्षित है। पर, फिर भी, कुछ लोगों को इसे नहीं पीना चाहिए। निम्नलिखित लोगों को इस पेय को पीने की सलाह नहीं है:

  • गर्भवती व स्नपान करवाने वाली महिलाओं को।
  • बुजुर्ग लोगों को (70 साल से अधिक उम्र के लोगों को)
  • 18 वर्ष से कम उम्र के लोगों को।
  • दिल और रक्त वाहिकाओं के रोगों से ग्रस्त लोगों को।
  • एथेरोस्क्लेरोसिस से पीड़ित लोगों को।

आप ग्रीन कॉफ़ी के बीज कहाँ खरीद सकते हैं?

ग्रीन कॉफ़ी के संपूर्ण, प्रामाणित बीज फ़ार्मेसी में नहीं मिलते हैं। आम तौर पर आपको वहाँ जेनेरिक उत्पाद ही मिल सकते हैं। इनमें से बहुत से बीज पौधों से ही मिलते हैं, पर उनमें वसा जलाने वाले गुण नहीं होते।

आप इस साइट पर कॉफ़ी के प्रामाणित बीज डिलीवरी के विकल्प के साथ खरीद सकते हैं। यह आधिकारिक उत्पादक की वेबसाइट है, जो ग्रीन कॉफ़ी ब्रांड के एकमात्र कानूनी उत्पादकर्ता हैं। दूसरी वेबसाइट पर या खुदरा दूकानों में मिलने वाले उत्पाद नकली हैं। कभी-कभी इसे अपनी क़ीमत से दस गुना अधिक कीमत पर भी बेचा जाता है।

ORDER NOW WITH 50% DISCOUNT

Comments

(1 Comment)

  • Mo. Hanif

    Any dieting with this capsule???

  • Your email address will not be published. Required fields are marked *

    • Lucknow
    • Indore
    • New Delhi
    • Ahmedabad
    • Jaipur
    • Pune
    • Patna
    • Agra
    • Mumbai
    • Chandigarh
    • Bengaluru
    • Kolkata
    • Hyderabad
    • Chennai
    • Guwahati
    • Bhopal
    • Sonipat
    • Shimla
    • Bhubaneswar
    • Coimbatore
    • Gurgaon
    • Ludhiana
    • Jammu
    • Durgapur
    • Rohtak
    • Panipat
    • Kochi
    • Kozhikode
    • Dehradun
    • Ghaziabad
    • Kanpur
    • Noida
    • Meerut
    • Siliguri
    • Anantapur
    • Jamshedpur
    • Surat
    • Vadodara
    • Srinagar
    • Belgaum
    • Shivamogga
    • Kota
    • Allahabad
    • Moradabad
    • Ranchi
    • Raipur
    • Bhilai
    • Kalyan
    • Thane
    • Navi Mumbai