चुदाई को किस समय और कितनी बार करें – Chudai ko kis samay aur kitni bar kare

हम सब की जिंदगी में चुदाई एक खास एहसास भरती है और इसको लेकर सभी के मन में कुछ ना कुछ नए-नए ख्याल आते रहते हैं. लेकिन इससे जुड़े कुछ ऐसे पहलू हैं जिन पर आज तक कुछ भी सही से कह पाना संभव नहीं हो पाया है. महिलाओं के मन में अक्सर ये सवाल आते रहते हैं कि पुरुष के मन में चुदाई की इच्छा कब होती है और इसके लिए सही समय क्या होता है.इन सवालों के जवाब को ढूंढने के लिए वे तरह-तरह के साधनों का उपयोग करती हैं जैसे इंटरनेट, किताबें, लेकिन इन चीजों से भी उनकी समस्याओं का समाधान नहीं हो पाता है.

अक्सर आने वाली समस्याओं का समाधान देने के लिए हम ये लेख “चुदाई को किस समय और कितनी बार करें” लिख रहे हैं. इसमें आपको और भी बहुत सी जानकारी मिलेगी जैसे कि शादी के बाद में चुदाई कब करें और चुदाई का सबसे अच्छा समय का होता है आदि.

(अन्य जानकारी प्राप्त करें – चुदाई करने के तरीके)

चुदाई का बढ़िया समय – Chudai ka badhiya samay

  • १. चुदाई का बढ़िया समय: शादी के कितने टाइम बाद
  • २. चुदाई करने का टाइम: सूर्योदय के समय या फिर सूर्यास्त के बाद
  • ३. चुदाई को अलग-अलग समय करने के फायदे

चुदाई का बढ़िया समय: शादी के कितने टाइम बाद – Chudai ka badhiya samay : Shadi ke kitne time bad

शादी के बाद चुदाई को लेकर जो सही समय होता उसके लिए कुछ भी कह पाना ठीक नहीं होगा, क्योंकि इस बिंदु पर बहुत ज्यादा शोध नहीं किया गया है.सगाई के बाद संबंध बनाने से पहले यह जरूरी होता है कि आप अपने साथी के साथ मानसिक स्तर पर भी जुड़ जाए.शादी के बाद दोनों ही के बीच में प्यार का रिश्ता कायम होना बहुत ही जरूरी होता है. अगर आप प्यार होने के बाद में चुदाई करेंगे तो इससे आपके रिश्ते में बहुत ही ज्यादा मजबूती आ जाती है.जो लोग शादी के तुरंत बाद बिना एक दूसरे को जाने-समझे चुदाई कर लेते हैं उनके रिश्ते में मजबूती नहीं आ पाती है और कहीं ना कहीं उनके रिश्ते में नकारात्मक असर भी पड़ता है.

(अन्य जानकारी प्राप्त करें- चुदाई के बारे में जानकारी)

शादी के बाद रिश्ते को हसीन बनाने के लिए मानसिक स्तर पर दोनों साथियों का जुडा होना बहुत ही जरूरी होता है. कुछ दंपत्तियों को एक दूसरे के साथ मानसिक स्तर पर जुड़ने में बहुत कम समय लगता है वहीं कुछ अन्य दंपतियों को काफी ज्यादा समय लग जाता है. समय आप दोनों के मानसिक स्तर पर ही निर्भर करता है कि एक दूसरे से सहज होने में आप लोगों को कितना समय लगता है.

( अन्य जानकारी प्राप्त करें- चुदाई की इच्छा बढ़ाने के उपाय)

शादी के बाद अगर आपके साथी को आपके साथ मानसिक स्तर पर जुड़ाव महसूस करने में अधिक समय लगता है तो आपको उसे थोड़ा अधिक समय दे देना चाहिए. शादी के बाद में आपको बहुत ही धैर्य के साथ काम लेना होता है जिससे कि आपके साथ ही आप के साथी भी जुड़ाव महसूस कर सकें.इस क्षेत्र के कुछ विशेषज्ञों का कहना है कि शादी के बाद कम से कम 3 महीने का समय एक दूसरे को समझने के लिए देना चाहिए. इस दौरान आप दोनों के बीच में नजदीकियां और प्रेम बढ़ेगा उसके बाद आप चुदाई बहुत ही आनंदपूर्वक कर पाएंगे.

(अधिक जानकारी प्राप्त करें -क्या आप चुदाई को पहली बार कर रहे हैं)

चुदाई करने का सही टाइम सूर्यास्त के समय या फिर सूर्यास्त के बाद – Chudai karne ka sahi time sunset ke samay ya sunset ke bad

ठोस तरीके से कुछ भी कह पाना बहुत कठिन होगा कि चुदाई करने का सही टाइम क्या होगा.क्योंकि यह प्रश्न बहुत सी अन्य चीजों पर निर्भर करता है.क्षेत्र के विशेषज्ञों का कहना है कि यह सवाल आपकी उम्र पर बहुत ज्यादा निर्भर करता है कि आप अपने साथी के साथ किस समय चुदाई कर सकते हैं.

Read next  एक माह में 10 किलो कम करने के लिए टॉप डाइट प्लान

चुदाई करने की इच्छा एक 20 साल की उम्र में और एक 40 साल की उम्र में अलग-अलग समय ही आएगी.

( अधिक जानकारी प्राप्त करें – चुदाई से होने वाले फायदे)

जैसे आपकी उम्र में अंतर आता है वैसे-वैसे आपकी शारीरिक क्षमता में भी अंतर आता है.अलग-अलग उम्र के लोगों की हालत अलग-अलग हो जाती हैं.आगे आप विशेषज्ञों द्वारा उम्र के हिसाब से अनुशंसित चुदाई का सही समय प्राप्त कर सकते हैं.

हमारे पाठकों के लिए फास्ट शिपिंग ऑफर:

  • पहला-दूसरा हफ्ता:
  • आपका खड़ापन लंबे समय तक चलेगा और उसकी सख्ती भी बढ़ जाएगी लिंग की संवेदना दो गुना बढ़ जाएगी पहले बदलाव लिंग की लंबाई 1.5 सेमी बढ़ जाने के साथ दिखेंगे1
  • दूसरा-तीसरा हफ़्ता:
  • आपका लिंग बड़ा दिखने लगेगा और उसका शेप भी सटीक हो जाएगा संभोग की अवधि 70% बढ़ जाएगी!2
  • चौथा हफ्ता और इसके बाद:
  • आपका लिंग 4 सेमी लंबा हो जाएगा! सेक्स की गुणवत्ता काफी अच्छी हो जाएगी और संभोग में चरम सुख जल्दी मिलेगा तथा 5-7 मिनट तक चलेगा!

(अधिक जानकारी प्राप्त करें – महिलाओं में चुदाई की आग भड़काने वाला अंग)

२० वर्ष की उम्र में -चुदाई के विशेषज्ञों ने पाया है कि 20 वर्ष के वर्ग के लोगों में चुदाई की इच्छा लगभग 2 दिन में ३:०० बजे के करीब बहुत ही चरम स्तर पर पहुंच जाती है.इसके अलावा दिन मेंजब चाहे तब चुदाई कर सकते हैं. ( अधिक जानकारी प्राप्त करें – मर्दानगी बढ़ाने वाले भोजन)
३० वर्ष की उम्र में -जब आप ३० वर्ष की उम्र में पहुंचते हैं तो आपकी आदतों में बहुत सारे बदलाव आ जाते हैं . इसलिए विशेषज्ञों के अनुसार 30 साल से ऊपर के लोगों के लिए सुबह के समय चुदाई करना बहुत ही अच्छा होता है.विशेषज्ञों के अनुसार सुबह ८:२० का समय चुदाई के लिए बहुत ही बेहतर होता है.जिस समय सूर्य निकलता है उस समय चाहे पुरुष हों या चाहे महिला दोनों के ही शरीर में उत्तेजना का स्तर बहुत ज्यादा बढ़ जाता है. (अधिक जानकारी प्राप्त करें -कामसूत्र द्वारा इंस्पायर्ड चुदाई के विभिन्न पोजीशन)
४० वर्ष की उम्र में – ४० की उम्र में पहुंचते -पहुंचते लोगों को ऑफिस और घर की बहुत सारी जिम्मेदारियों का सामना करना पड़ता हैजिससे वे जल्दी थक कर सो जाते हैं.इस उम्र के लोगों के लिए चुदाई करने के लिए रात में १०:२० का समय बहुत ही सही होता है. इस उम्र की दहलीज पर पहुंच चुके लोगों को सोने से पहले चुदाई करना ठीक लगता है.
५० वर्ष की उम्र में -इस उम्र के लोगों पर परिवार की जिम्मेदारियां बहुत ज्यादा आ जाती हैं. इन जिम्मेदारियों के चलते ऑफिस में तनाव और थकान बहुत ज्यादा बढ़ जाती है, जिसके कारण इस उम्र के लोग जल्दी सोना पसंद करनेलगते हैं, इसलिए इस उम्र के लोगों के लिए चुदाई करने का सही समय रात में लगभग 10:00 बजे होता है लेकिन इस समय को एकदमबारीकी से बता पाना संभव नहीं होगा.
६० वर्ष की उम्र में – जब कोई व्यक्ति चुदाई कर लेता है और उसे चुदाई से आनंद की प्राप्ति हो जाती है तो उसके शरीर से एक हार्मोन निकलता है जिसका नाम ऑक्सिटॉसिन होता है इसलिए इस उम्र के लोगों को सोने से पहले चुदाई करने की सलाह दी जाती है.विशेषज्ञों के अनुसार इस आयु वर्ग के लोगों को रात के 10:00 बजे के आस-पास ही चुदाई करनी चाहिए. ( अधिक जानकारी प्राप्त करें -अपने रिश्ते को कैसेमजबूत बनाएं)
70 वर्ष की उम्र में -जैसा कि ऊपर ६० वर्ष के लोगों के लिए बताया गया है, 70 वर्ष के लोगों के लिए भी वही जानकारी लागू होती है. इन लोगों के लिए भी चुदाई का समय रात के 10:00 बजे ही सही होता है.इस आयु के लोग सुबह जल्दी उठना पसंद करते हैं इसलिए उन्हें चुदाई सोने से पहले करनी चाहिए. ( अधिक जानकारी प्राप्त करें -चुदाई, शादी के पहले)

Read next  Lose weight without dieting: 22 simple but effective ways to lose weight

चुदाई कोअलग-अलग समय में करने के फायदे – Chudai ko alag-alag samay me karne ke fayde

चुदाई के अपने अलग ही फायदे होते हैं.कुछ खास समय पर चुदाई करने के कुछ इस तरह से लाभ मिलते हैं.आइए जानते हैं कि आपके लिए किस समय चुदाई करना सबसे अच्छा होगा.

सूर्योदय के समय-
बदल रहे मौसम के असर से बचने के लिए चुदाई –
पीरियड के 13 दिन निकल जाने के बाद चुदाई करें –
व्यायाम के बादचुदाई करना चाहिए –
ऑफिस में हुए तनाव से बचने के लिए भी चुदाई कर सकते हैं
डर से परेशान है तो चुदाई करें –
सुबह के समय चुदाई करने से शरीर में टेस्टोस्टेरोन और ऊर्जा कीमात्राबहुत बढ़ जाती है. और साथ ही आपके शरीर में ऑक्सीटोसिन की वृद्धि होती है तो आप एक दूसरे से खुद को जुड़ा हुआ महसूस करते हैं.साथ ही एंडोर्फिन हार्मोन सोने में सुहागा का काम करता है और यह आपके मूड को और भी अच्छा बना देता है( अधिक जानकारी प्राप्त करें -ऐसी गलतियां जिन्हें लोग अक्सर चुदाई के दौरान करते हैं)

इस बात को कई अध्ययनों ने प्रमाणित किया हैकिमौसम बदलने के समय जब अक्सर लोगों को थकान और सुस्ती महसूस होती है अगर आप उस दौरान चुदाई कर लें तो आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता में बहुत ही वृद्धि हो जाती है.इसका यह तात्पर्य कभी भी नहीं लेना चाहिए कि अगर आप बीमार हैं या आप को बुखार है तो आप उस समय भी चुदाई करें.ये आपको केवल बदल रहे मौसम के रोगों के कारणों से सुरक्षा प्रदान करता है ( अधिक जानकारी प्राप्त करें -वीर्य को गाढ़ा और ज्यादा बनाने के देसी उपाय)

हाल में ही किए गए कई शोधों से पता चलता है कि पीरियड के करीब 2 सप्ताह बाद चुदाई करना चाहिए.यह वो समय होता है जब महिलाओं की योनि काऊपरी आकार लगभग 20% बढ़ गया होता हैऔर ओव्युलेशन के समय किसी के भी अंदर चुदाई की इच्छा और भी ज्यादा होती है. ( अधिक जानकारी प्राप्त करें -मासिक धर्म के दौरान चुदाई कैसे करें)

जिम से लौट के आने के बाद फिरव्यायाम करने के बाद भी आप चुदाई कर सकते हैं.एक विदेशी विश्वविद्यालय में ऐसा शोध किया गया है जिससे उनको पता चलता है कि व्यायाम करने के बाद में महिलाओं के यौन अंगों में रक्त के संचार मेंलगभग १६९% की वृद्धि हो जाती है.व्यायाम करने के बाद आपके शरीर में बहुत सारे जरूरी हारमोंस जो कि यौनप्रक्रिया से संबंधित होते हैं, वे सक्रिय हो जाते हैं जैसे कि टेस्टोस्टेरोन.इसलिए विशेषज्ञ व्यायाम करने के बाद भीचुदाई करने की सलाह देते हैं. (अधिक जानकारी प्राप्त करें – आप कैसे योग के माध्यम से अपनी चुदाई लाइफ को बेहतर बना सकते हैं)

अगर आप ऑफिस में हुए तनाव से बचने के लिए शराब का सेवन करते हैं तो आपको विशेषज्ञ यही सलाह देंगे कि शराब की जगह आप चुदाई के विकल्प का चयन करें.दूसरों से पता चलता है किअपने खराब मूड को सही करने के लिए, तनाव से बचने के लिए चुदाई का सहारालिया जा सकता है.आपके दिमाग में बसा तनाव एवं निराशा आपको चुदाई के प्रति अधिक सक्रिय एवं खुश बना देता है. ( अधिक जानकारी प्राप्त करें -तनाव भगाने की देसी जुगाड़)

Read next  औरत को 5 मिनट के अंदर चरम सुख कैसे दें

यदि आपने कोई डरावनी मूवी देखी है या फिर कोई डरावना काम किया है तो इसके बाद में आपको चुदाई कर लेनी चाहिए.डर की स्थिति में आपके शरीर से एक खास हार्मोन निकलने लगता है जिसका नामएड्रिनेलिन होता है. इससे आपके शरीर में उत्तेजना बहुत ज्यादा बढ़ जाती है, और उसका सीधा असर आपकी चुदाई की क्षमता पर भी पड़ता है. इस खास हार्मोन के चलते आपको चुदाई से बहुत ही सुखद एहसास की अनुभूति होती है ( अधिक जानकारी प्राप्त करें – चुदाई से जुड़ी गलत धारणायें)

आपको कितनी बार चुदाई करना चाहिए – Apko kitni bar chudai karna chahiye

शादीशुदा जोड़े अक्सर इस सवाल से घिरे रहते हैं कि उन्हें कितनी बार चुदाई करना चाहिए. इस सवाल पर अलग-अलग लोग अलग-अलग राय देते हैं.कुछ-कुछ शादीशुदा जोड़े अपनी तुलना अन्य शादीशुदा जोड़ों से करने लगते हैं.जब भी वे देखते हैं कि वे अन्य जोड़ों की तुलना में कम चुदाई कर रहे हैं तो उनके मन में तरह-तरह के सवाल उठते हैं. वे सोचते हैं कि कहीं कम चुदाई अन्य लोगों की तुलना में उनके रिश्ते की कमजोरी को तो नहीं दिखाता है.(अधिक जानकारी प्राप्त करें – सुरक्षित चुदाई के सुरक्षित तरीके)

इस विषय पर किए गए शोध से पता चलता है कि कई लोग सप्ताह में दो से तीन बार चुदाई करते हैं, जबकि हमारे चुदाई विशेषज्ञ का मानना है कि सप्ताह में एक से दो बार की गयी चुदाई भी पर्याप्त होती है.साथ ही हमारे एक्सपर्ट यह भी बोलते हैं किचुदाई की कोई भी संख्या सामान्य नहीं होती है.प्रत्येक व्यक्ति की मानसिक एवं शारीरिक क्षमता एक दूसरे से अलग होती हैं.इसमें कोई भी संदेह नहीं है कि चुदाई के बहुत सारे फायदे होते हैं लेकिन चुदाई करना भी अन्य बहुत सारे कारणों पर निर्भर करता है.अगर आप ऐसा सोचते हैं कि कम चुदाई करने वाले दंपत्तियों का मानसिक जुड़ाव अधिक चुदाई करने वाले दम्पतियोंकी तुलना में कमजोर होता है, तो फिर आपका ऐसा सोचना एकदम गलत है. और कहा भी जाता है कि किसी भी चीज की अति अच्छी नहीं होती है. (अधिक जानकारी प्राप्त करें -चुदाई में लंबे समय तक टिकने के उपाय)

निसंदेह चुदाई आप को आराम पहुंचाती है, इसलिए आपको इस बात पर ध्यान नहीं देना चाहिए कि आप कितनी देर तक चुदाई कर पा रहे हैं. बल्कि आपको अपने आनंद पर ध्यान देना चाहिए.बढ़ती उम्र के साथ आपकी चुदाई की आदतों में भी बदलाव आता है. चुदाई करने की संख्या बस किसी रिश्ते की मजबूती को नहीं दर्शाती है, ये अन्य बहुत सारे कारणों और आपके साथी की इच्छा पर भी निर्भर करता है.आप 1 सप्ताह 1 महीना 1 साल में कितनी बार चुदाई करना चाहते हैं ये पूरी तरह से आपका और आपके साथी का निर्णय होता है. इस संबंध में अन्य किसी भी धारणा को छोड़कर आपको अपने और अपने साथी की खुशी का ख्याल रखना चाहिए.

( अधिक जानकारी प्राप्त करें -चुदाई में मजे का छौंका कैसे लगाएं)

Comments

(0 Comments)

Your email address will not be published. Required fields are marked *

  • Lucknow
  • Indore
  • New Delhi
  • Ahmedabad
  • Jaipur
  • Pune
  • Patna
  • Agra
  • Mumbai
  • Chandigarh
  • Bengaluru
  • Kolkata
  • Hyderabad
  • Chennai
  • Guwahati
  • Bhopal
  • Sonipat
  • Shimla
  • Bhubaneswar
  • Coimbatore
  • Gurgaon
  • Ludhiana
  • Jammu
  • Durgapur
  • Rohtak
  • Panipat
  • Kochi
  • Kozhikode
  • Dehradun
  • Ghaziabad
  • Kanpur
  • Noida
  • Meerut
  • Siliguri
  • Anantapur
  • Jamshedpur
  • Surat
  • Vadodara
  • Srinagar
  • Belgaum
  • Shivamogga
  • Kota
  • Allahabad
  • Moradabad
  • Ranchi
  • Raipur
  • Bhilai
  • Kalyan
  • Thane
  • Navi Mumbai