क्या नियमित सेक्स लिंगोत्थान संबंधी समस्याओं के लिए एक अच्छा इलाज है?

लिंगोत्थान की समस्या पुरुषों में व्याप्त एक ऐसी आम समस्या है कि दुनिया दर्जनों उपचार लेकर आ गई है। इनमें से कुछ समाधान दूसरों की तुलना में अधिक प्रभावी हैं। कुछ मामलों में ऐसा कोई सबूत नहीं है कि कोई खास पद्धति काम करेगी या नहीं।

यह एक आम धारणा है कि अधिक सेक्स आपके लिंगोत्थान की गुणवत्ता में सुधार के लिए सबसे अच्छे विकल्पों में से एक है। क्या यह वास्तव में ऐसा है?

इस दावे के पीछे का सिद्धांत

यह पता लगाने के लिए कि सेक्स लिंगोत्थान की समस्या को दूर करने में मदद करता है या नहीं, पहले इस (लिंगोत्थान की) स्थिति में योगदान देने वाले कुछ सबसे महत्वपूर्ण कारकों पर ध्यान देना ज़रूरी है।

लिंगोत्थान की समस्या एक जटिल यौन मुद्दा है। इसका मुख्य कारण शारीरिक और मनोवैज्ञानिक दोनों हो सकता है। पुरुषों के लिंगोत्थान में असमर्थ होने के सबसे आम कारणों में से कुछ इस प्रकार हैं:

  • दिल तथा रक्तवाहिकाओं संबंधी (Cardiovascular) समस्याएं जो सहायक नलिकाओं में रक्त के प्रवाह को कम करती हैं
  • दिल की बीमारी
  • मधुमेह
  • मोटापा
  • पार्किंसंस रोग (इसमें नाड़ीतंत्र कमजोर पड़ जाने से शरीर कांपता रहता है)
  • प्रोस्टेट ग्रंथि की वृद्धि और प्रोस्टेट की अन्य अवस्थाएँ
  • सिगरेट पीना और शराब का अत्यधिक सेवन
  • मल्टीपल स्क्लेरोसिस [यह मस्तिष्क और मेरुरज्जु (केंद्रीय तंत्रिका तंत्र) की संभावित रूप से अक्षम बनाने वाली बीमारी है।]

“इसका उपयोग करें या इसे खो दें” वाले नियम के पीछे के सिद्धांत को समझना आसान है। लिंगोत्थान की समस्या बुजुर्ग पुरुषों में ज्यादा आम है। आयु कई शारीरिक प्रक्रियाओं को बदल देती है। इस प्रकार बारंबार सेक्स करना एक व्यायाम का तरीका है जो सभी अंगों को सुचारू रूप से कारगर बनाए रखने में मदद करती है।

Read next  10 सरल टिप्स से किसी लड़की को प्रभावित करना सीखें

लिंगोत्थान की अधिकता लिंग को स्वस्थ रखती है। तंत्रिकाओं के छोरों पर इसका सकारात्मक प्रभाव पड़ता है और फलतः इस क्षेत्र की रक्त वाहिकाएं भी स्वस्थ रहती हैं।

कहने की जरूरत नहीं है कि यह उन लोगों पर लागू नहीं होता जो किसी गंभीर रोग के कारण लिंगोत्थान की गड़बड़ी के शिकार हैं। इन मामलों में पहले एक चिकित्सक के साथ बात कर लेना बहुत जरूरी है। एक डॉक्टर ही यह निर्धारित करेगा कि लिंगोत्थान की गड़बड़ी के लिए कोई रोग ज़िम्मेदार है या नहीं और उसका उपचार किया जाना चाहिए या नहीं।

सबूत

यह सब सिद्धांततः सुनने में बहुत ही अच्छा लगता है, लेकिन क्या कोई सबूत इस बात की पुष्टि करता है कि अधिक सेक्स करने वालों को लिंगोत्थान की समस्या से पीड़ित होने की संभावना कम हैं?

2008 में अमेरिकन जर्नल ऑफ मेडिसिन (American Journal of Medicine) में एक परीक्षण के परिणाम प्रकाशित किए गए थे। अध्ययन में 55 से 75 वर्ष के 989 पुरुषों को शामिल किया गया था। शोधकर्ताओं ने पांच साल का प्रयोग किया, जिसके दौरान उन्होंने प्रतिभागियों के बीच सेक्स की आवृत्ति और उनमें होनेवाली लिंगोत्थान की समस्या की आवृति का आंकलन किया।

उनकी उम्र के कारण होने वाले विभिन्न रोगों की वजह से उस समूह के कुछ पुरुष लिंगोत्थान की समस्या से ज्यादा पीड़ित थे। इन रोगों में उच्च रक्तचाप, ह्रदय रोग, मधुमेह और अन्य दिल तथा रक्तवाहिकाओं संबंधी (cardiovascular) समस्याएं शामिल थीं।

पांच साल की अवधि के अंत में शोधकर्ताओं ने यह निष्कर्ष निकाला कि जिन लोगों ने प्रति सप्ताह एक बार से कम सेक्स करने की सूचना दी थी, उनमें प्रति सप्ताह एक बार या अधिक बार सेक्स करने वाले लोगों की तुलना में लिंगोत्थान की गड़बड़ी से पीड़ित होने की संभावना दो गुणी अधिक थी।

Read next  How to choose a face whitening cream

एक अलग दृष्टिकोण

जबकि बारंबार सेक्स या हस्तमैथुन करना लिंग के लिए एक व्यायाम की तरह होता है, कुछ यूरोलॉजिस्ट इससे अलग दृष्टिकोण रखते हैं।

कुछ चिकित्सकीय पेशेवरों के अनुसार कम सेक्स लिंगोत्थान की समस्या से संबंधित जरूर है पर यह अभी भी निश्चित नहीं है कि यह सचमुच लिंगोत्थान की समस्या का कारण बनता है या नहीं। सभी पुरुषों के लिए अपने लिंगोत्थान की प्रक्रिया को स्वस्थ रखने के उद्देश्य से सेक्स करना कोई जरूरी नहीं है। कुछ लोग बाद के जीवन में बिना कुछ खास किये ही मजबूत लिंगोत्थान का आनंद लेते हैं।

सेक्स का आनंद लेना और अन्य यौन गतिविधियों में शामिल होना निश्चित रूप से एक अच्छा विचार है क्योंकि इनसे मिलने वाले शारीरिक और मनोवैज्ञानिक लाभों की श्रृंखला काफी विस्तृत है। हालांकि, सेक्स अपने आप में एक लक्ष्य नहीं बन जाना चाहिए, खासकर प्रजनन संबंधी स्वास्थ्य को बनाए रखने की जरुरत को ध्यान में रखते हुए।

कुछ मूत्र विज्ञानियों के अनुसार सेक्स की आवृत्ति में कमी वास्तव में लिंगोत्थान की समस्या का परिणाम हो सकती है, न की उसका कारण। जिन लोगों ने ऐसी समस्याओं का अनुभव किया है, उनमें अपने सेक्स प्रदर्शन की गुणवत्ता के बारे में चिंतित होने की संभावना अधिक होती है, जिससे वे यौन गतिविधियों में शामिल होना पसंद नहीं करते।

सार बात यही है कि सेक्स का आनंद लेना निश्चित रूप से एक अच्छी बात है। यौन गतिविधियां आपको युवा बनाए रखती हैं, आपके शारीरिक आकार को अच्छा बनाए रखने में मदद करती हैं और साथ ही ख़ुशी पैदा करने वाले हार्मोन के उत्पादन को बढ़ावा देती हैं। हालांकि, यदि आप लिंगोत्थान संबंधी समस्याओं से ग्रस्त हैं, तो पर्याप्त उपचार और कारगर पूरक आहारों की तलाश करना एक अच्छा विचार हो सकता है। यह दृष्टिकोण आमतौर पर आपको सर्वोत्तम परिणाम प्रदान करेगा।

हमारे पाठकों के लिए फास्ट शिपिंग ऑफर:

  • पहला-दूसरा हफ्ता:
  • आपका खड़ापन लंबे समय तक चलेगा और उसकी सख्ती भी बढ़ जाएगी लिंग की संवेदना दो गुना बढ़ जाएगी पहले बदलाव लिंग की लंबाई 1.5 सेमी बढ़ जाने के साथ दिखेंगे1
  • दूसरा-तीसरा हफ़्ता:
  • आपका लिंग बड़ा दिखने लगेगा और उसका शेप भी सटीक हो जाएगा संभोग की अवधि 70% बढ़ जाएगी!2
  • चौथा हफ्ता और इसके बाद:
  • आपका लिंग 4 सेमी लंबा हो जाएगा! सेक्स की गुणवत्ता काफी अच्छी हो जाएगी और संभोग में चरम सुख जल्दी मिलेगा तथा 5-7 मिनट तक चलेगा!

Comments

(0 Comments)

Your email address will not be published. Required fields are marked *

  • Lucknow
  • Indore
  • New Delhi
  • Ahmedabad
  • Jaipur
  • Pune
  • Patna
  • Agra
  • Mumbai
  • Chandigarh
  • Bengaluru
  • Kolkata
  • Hyderabad
  • Chennai
  • Guwahati
  • Bhopal
  • Sonipat
  • Shimla
  • Bhubaneswar
  • Coimbatore
  • Gurgaon
  • Ludhiana
  • Jammu
  • Durgapur
  • Rohtak
  • Panipat
  • Kochi
  • Kozhikode
  • Dehradun
  • Ghaziabad
  • Kanpur
  • Noida
  • Meerut
  • Siliguri
  • Anantapur
  • Jamshedpur
  • Surat
  • Vadodara
  • Srinagar
  • Belgaum
  • Shivamogga
  • Kota
  • Allahabad
  • Moradabad
  • Ranchi
  • Raipur
  • Bhilai
  • Kalyan
  • Thane
  • Navi Mumbai