कैसे वीर्य स्खलन को लम्बे समय तक के लिए रोकें?

बहुत से मर्द इस बात को मानते हैं कि ज्यादा देर तक जब उनका वीर्य नहीं निकलता है तो यह उनकी यौन शक्ति की अच्छी गुणवत्ता को प्रदर्शित करता है और यह बात सही भी है क्योंकि इससे उनके साथी को अधिक यौन सुख भी प्राप्त होता है. और केवल इतना ही नहीं, स्खलन के लम्बे होने से आपके साथी को भी चरमोत्कर्ष में अधिक आनंद की प्राप्त होती है.

हालांकि, अधिकांश पुरुष जो लंड को चूत में डालने के बाद ज्यादा देर तक अपने पानी को रोक नहीं पाते हैं वे लोग अपने वीर्यपात की अवधि और चरमोत्कर्ष की उत्तेजना को बढ़ाना चाहेंगे. लेकिन समस्या यह है कि उन्हें इस बात की जानकारी ही नहीं है कि कैसे इस लक्ष्य को प्राप्त किया जाये. वास्तव में यह ज्यादा कठिन नहीं है और कुछ बहुत ही सरल जुगाड़ों और तकनीकों की मदद से आप अपने लक्ष्य को प्राप्त कर सकते हैं. आइए कुछ चीजों पर एक नजर डालते हैं, जिनसे आप चुदाई के दौरान लंबे समय तक अपने पानी को रोक पायेंगे.

#१ – हस्तमैथुन

चुदाई से कुछ घंटे पहले हस्तमैथुन करने से आप सेक्स के दौरान लंबे समय तक टिके रह सकते हैं. इसका कारण यह है कि जब आप हस्तमैथुन करते हैं, इससे लिंग की संवेदनशीलता कम हो जाती है. जिससे, आप संभोग में अधिक समय लेते हैं और फिर देरी से पानी निकालते हैं.

लेकिन इस विधि में केवल यही दोष है कि कुछ पुरुषों में सेक्स से पहले हस्तमैथुन करने के बाद में यौन संबंध करने की इच्छा खत्म हो जाती है या फिर उनका लंड भी सही से कड़ा नहीं हो पाता है. यही कारण है कि चुदाई करने से कम से कम २ घंटा पहले हस्तमैथुन करें. उस से कम समय में किए गए हस्तमैथुन से आपके कड़ेपन पर असर पड़ना तो एकदम लाज़मी ही है.

# २ – कंडोम

हम सभी सुरक्षित सेक्स के बारे में जानते हैं कि क्यों हमें कंडोम का उपयोग करना चाहिए. हालांकि, एक बात जो ज्यादातर पुरुषों को नहीं पता होती है वो कि है कंडोम से यौन संभोग के दौरान उत्तेजना कम हो जाती है. इसका मतलब कंडोम पहनने के बाद आप चुदाई में अधिक समय लेते हैं और सामान्य चुदाई की तुलना में लम्बे समय तक टिके रहते हैं.

Read next  वीर्यस्खलन की समस्याएं

# ३ – साँस लें

ज्यादातर पुरुष यौन संबंध के दौरान तेजी से साँस लेते हैं. वास्तव में, कुछ पुरुष संभोग के दौरान अपनी सांस को रोक लेते हैं. यदि आप लंबे समय तक टिके रहना चाहते हैं तो आमतौर पर यह अच्छी बात नहीं है. आपको ज़रूरत है कि आप गहरी साँस लें और अपने शरीर को आराम दें.

बस अपनी साँस की गति को धीमा कर दें और उस क्षण की उत्तेजना पर ध्यान केंद्रित करें और आपको महसूस होगा कि आप लंबे समय तक बिस्तर में टिके रह सकते हैं और आनंद का अनुभव कर सकते हैं. इस प्रक्रिया के बिना जिसे आप शायद कभी महसूस भी नहीं कर पाते.

FREE Fast Shipping offer for our readers:

  • पहले और दूसरे सप्ताह में:
    कड़ापन लम्बे समय के लिए कठोर बन जाता है, लिंग की संवेदनशीलता २ गुना तक बढ़ जाती है. परिणाम नज़र आने लगते हैं – क्योंकि आपके लिंग का आकार १.५ सेमी. तक बढ़ चुका होता है.1
  • दूसरे और तीसरे सप्ताह में:
    पहले से आपके लिंग में आकार वृद्धि दर्शित होने लगती है, यह संरचनात्मक रूप से एकदम सटीक बन जाता है. सम्भोग का समय ७०% तक बढ़ जाता है!2
  • चौथे सप्ताह में और उससे आगे:
    लिंग ४ सेमी. तक बढ़ जाता है! सम्भोग का आनंद पहले से और भी अच्छा हो जाता है. ओर्गेज़्म लम्बे समय के होते हैं जो कि ५-७ मिनट तक चलते हैं!

BUY XTRA-MAN -50% DISCOUNT

# ४ – रोकें और पुनः शुरू करें

यह पद्धति आपके स्खलन में देरी करने के लिए, आपके चरमोत्कर्ष की उत्तेजना को बढ़ाने के लिए और साथ ही साथ वीर्य की मात्रा बढ़ाने के सर्वोत्तम तरीकों में से एक है. यह काफी सरल है; आपको केवल यह करना है कि जैसे ही आपको महसूस हो कि आपका पानी निकलने वाला है उसी समय आप झटका मारना बंद कर दें. उत्तेजना कम होने तक कुछ समय के लिए खुद को आराम दें. एक बार जब उत्तेजना समाप्त हो जाये, उसके बाद आप फिर से चुदाई शुरू कर सकते हैं.

Read next  पेट की चर्बी कम करने के 6 विज्ञान आधारित सरल तरीके

यह विधि न केवल आपकी चुदाई के आनंद को बढ़ाती है बल्कि रोकने और दोबारा शुरू करने की पूरी प्रक्रिया से आपके साथी को भी अधिक आनंद की प्राप्ति होती है इससे उसे ऐसा ऑर्गैज़म मिलेगा जिसकी उसने कभी कल्पना भी नहीं की होगी.

# ५ – दबाने की जुगाड़

इस विधि में लिंग के टोपे को दबाया जाता है. यह फिर से उसी समय किया जाता है जैसे ही आपको महसूस होने लगा कि आपका पानी निकलने वाला है. यह विधि उन लोगों के लिए एकदम सही है, जिनका पानी चूत में डालने से पहले ही छूट जाता है.

जैसे ही आपको महसूस हो कि आपका पानी निकलने वाला है, तुरन्त ही बस दस से बीस सेकंड के लिए लंड के टोपे को दबाएँ. तब तक दबाएँ जब तक कि उत्तेजना कम न हो जाये. जब एक बार उत्तेजना समाप्त हो जाये, उसके बाद करीब ३० सेकंड तक इंतजार करें और फिर आप चूत में अपना लंड घुसा सकते हैं. आप इस विधि को तब तक कर सकते हैं जब तक कि आप और आपकी साथी पानी छोड़ने के लिए तैयार न हो.

# ६ – चुदाई के आसन

यदि आप चुदाई के दौरान लंबे समय तक टिके चाहते हैं, तो पारंपरिक मिशनरी आसन को छोड़ दें और अपनी हसीना को अपने ऊपर चढ़ा लें. इस आसन में आपको आराम मिलती है और आप आसानी से अपनी उत्तेजना को नियंत्रण में रख सकते हैं. इससे आप सामान्य समय से कहीं अधिक समय तक टिके रहते हैं.

# ७ – पेल्विक व्यायाम

अपनी पैल्विक फ्लोर मांसपेशियों को सिकोड़ने और खोलने का व्यायाम करें. ये वे मांसपेशियां हैं जिनकी मदद से आप अपने मूत्र की उत्तेजना को नियंत्रित करते हैं. इस अभ्यास को किसी भी समय पर कहीं भी किया जा सकता है. एक बार जब आपका अपनी पैल्विक फ्लोर की मांसपेशियों पर अच्छा नियंत्रण बन जाता है, तो आप पानी निकलने के समय भी अपने स्खलन को आसानी से रोक पायेंगे. आप जब तक चाहें इन मांसपेशियों को सिकोड़ सकते हैं और स्खलन में देरी कर सकते हैं. साथ ही अपने साथी को जब तक चाहें मज़ा दे सकते हैं.

Read next  How to choose a face whitening cream

# ८ – उत्तेजना कम करने वाली क्रीम

बाजार में ऐसी क्रीम मौजूद हैं जिनसे संभोग के दौरान होने वाली उत्तेजना कम हो जाती है. इन ख़ास उत्तेजना कम करने वाली क्रीमों को चुदाई के ठीक पहले लगाया जा सकता है और अपनी चुदाई के समय को बढ़ाया जा सकता है.

इन क्रीमों का एकमात्र दोष यह है कि इससे लंड की अनुभूति करने की क्षमता कम हो जाती है जिसके परिणामस्वरुप आपको चुदाई का वास्तविक आनंद नही मिल पाता है. इसके अलावा, जब आप अपने साथी की चूत में अपना लंड डालते हैं तो क्रीम का असर उसकी चूत पर भी हो सकता है जिससे आपकी साथी को भी देरी से ऑर्गैज़म आएगा.

कई पुरुष हर्बल, विटामिन या पिल सप्लीमेंट का भी लाभ उठा सकते हैं जिससे आपके समग्र यौन स्वास्थ्य में सुधार आ सकता है. हालांकि, अधिकतर पुरुषों के लिए ऊपर दी गयी जुगाड़ों में कोई न कोई तो असरदार हो ही जाती है जिससे वे अपने पानी को अधिक देरी के लिए रोक सकते हैं. चुदाई के दौरान अपने साथी की जरूरतों और इच्छाओं को समझने का प्रयास करें, क्योंकि वास्तव में संभोग के दौरान आपकी साथी लंबे समय तक टिके रहने में आपकी मदद कर सकती है.

Xtra-man cream

BUY XTRA-MAN -50% DISCOUNT

Comments

(0 Comments)

Your email address will not be published. Required fields are marked *

  • Lucknow
  • Indore
  • New Delhi
  • Ahmedabad
  • Jaipur
  • Pune
  • Patna
  • Agra
  • Mumbai
  • Chandigarh
  • Bengaluru
  • Kolkata
  • Hyderabad
  • Chennai
  • Guwahati
  • Bhopal
  • Sonipat
  • Shimla
  • Bhubaneswar
  • Coimbatore
  • Gurgaon
  • Ludhiana
  • Jammu
  • Durgapur
  • Rohtak
  • Panipat
  • Kochi
  • Kozhikode
  • Dehradun
  • Ghaziabad
  • Kanpur
  • Noida
  • Meerut
  • Siliguri
  • Anantapur
  • Jamshedpur
  • Surat
  • Vadodara
  • Srinagar
  • Belgaum
  • Shivamogga
  • Kota
  • Allahabad
  • Moradabad
  • Ranchi
  • Raipur
  • Bhilai
  • Kalyan
  • Thane
  • Navi Mumbai