अपने सीने को प्राकृतिक तरीके से बड़ा करने के 5 तरीके

इसमें कोई दो राय नहीं हैं कि किसी नारी के स्तन ही उसकी असली पूंजी होते हैं। चाहे आप कोई टाइट ड्रेस पहन रही हों या अपनी फेव्रेट साड़ी के साथ टाइट ब्लाउज़, लटकते हुए स्तन बड़ी समस्या उत्पन्न करते हैं। आज कई महिलाएँ स्तन बड़े करने के लिए ऑपरेशन कराने को मजबूर हो जाती हैं क्योंकि उन्हें लगता है कि इसके सिवाय और कोई चारा नहीं है।

यदि आप चाहती हैं कि आपको भी ऑपरेशन का सहारा न लेना पड़े तो आपको कुछ खास व्यायाम करने होंगे और खास डाइट लेनी होगी जिससे आगे जाकर स्तन समय से पहले न लटकें। नियमित व्यायामों के अलावा आप वजन उठाने वाली ट्रेनिंग भी कर सकती हैं जिससे आपकी कोर मसल्स और स्तनों के ऊतक मजबूत होंगी और कड़े हो जाएँगे।

1. पुरुषों की तरह पंप-अप करें

यह व्यायाम अब सिर्फ पुरुषों तक सीमित नहीं है। पुश-अप्स से आपका सीने, पेट और हाथों की मसल्स मजबूत होती हैं। अपनी मैट जमाएँ; पेट के बल लेट जाएँ। अपने हाथों को जमीन पर कंधों से दूर रखें। अपने हाथों और पैरों के टखनों पर वजन रखकर अपने शरीर को ऊपर उठाएँ। इसके बाद धीरे-धीरे शुरुआती पोसिशन पर वापस आएँ। रोज दस-दस के दो सेट करें।

2. बेंच उपयोग करें

बेंच प्रेस आपके सीने की मसल्स पर जादू कर सकती हैं। बस अपनी पीठ के बल किसी बेंच पर लेट जाएँ। अपने हाथों को अपने साइड में रखें, कोहनियों को मुड़ा हुआ रखकर (ऊपर फोटो में दिखाई गई पोसिशन A)। अपने हाथों में कुछ भारी वजन रखें (5 किलो के डंबल या 2 लीटर पानी की बोतलें)। अब अपने हाथों को ऊपर उठाते हुए उन्हें छत की ओर ले जाएँ (ऊपर फोटो में दिखाई गई पोसिशन B)। फिर इन्हें वापस साइड में ले आएँ। इसे हर बार 10 रिपीटीशन करके दो बार करें। हर सेट के बीच में पानी पिएँ। यदि आप यह एक्सर्साइज़ करने जा रही हों तो ध्यान रखें कि आपको कोई पीठ दर्द की समस्या हो।

Read next  गोरा रंग पाने के लिए 5 घरेलू नुस्ख़े और उपचार

FREE Fast Shipping offer for our readers:

  • Fast weight
    loss with no relapses
  • Does not cause
    digestive disorders
  • Completely natural, ecologically pure supplement of plant origin
  • Clinically tested and is fully endorsed by the National Institute of Nutrition

ORDER NOW WITH 50% DISCOUNT

3. डंबल से कंधों के व्यायाम

कुछ वजन के साथ कंधों के व्यायाम करने से काफी फायदा होता है। कंधों के चौड़ाई बराबर पैरों को फैला कर अपने घुटनों को हल्का सा मोड़ें (ऊपर दिखाई फोटो में पोसिशन A)। अपने डंबल को लेकर उसे अपने कंधों से ऊपर उठा लें। आपके हाथ के ऊपरी हिस्से को सिर पर बल देना चाहिए (ऊपर दिखाई फोटो में पोसिशन B)। साथ ही यह भी ध्यान रखें कि आपको इस पोसिशन को एक सेकंड के लिए होल्ड करना है और फिर वजन वहीं वापस ले जाएँ जहां से आपने शुरू किया था। इसे दो-दो के सेट में रिपीट करते हुए हर बार 10 बार करें।

4. वॉटर बेबी

यदि आपको रोज जिम जाकर वजन उठाना ज़्यादा पसंद न हो तो स्विमिंग करना शुरू करें। इससे वजन तो कम होता ही है, स्विमिंग में ब्रेस्टस्ट्रोक तैराकी करने से आपके स्तनों को भी अच्छे नतीजे मिल सकते हैं। यह एक्सर्साइज़ आपके सीने और हाथों की मसल्स के लिए बहुत अच्छी होती है।

5. हथेलियों से व्यायाम

यह घर पर करने के लिए सबसे सरल एक्सर्साइज़ है। सीधे बैठें और अपनी हथेलियों को अपने सीने पर पास-पास ले आएँ (जैसा प्रार्थना करते समय करते हैं)। अब अपनी हथेलियों को जितनी ज़ोर से हो सके आपस में दबाएँ। आपको अपने स्तनों की मसल्स की प्रतिक्रिया भी महसूस होनी चाहिए। पाँच तक गिनें और फिर रिलैक्स करें। इस व्यायाम को रोज कम से कम 20 मिनट तक करें। तो चलिए ध्यान लगाने का समय आ गया है!

Read next  12 reasons why libido reduces

लाभकारी भोजन

कुछ ऐसे भोजन होते हैं जो आपके स्तनों को कड़ा और स्वस्थ बनाए रखने में काफी मददगार होते हैं। इन्हें अपने खान-पान में शामिल करके ऑपरेशन और सिलिकन पैड्स से दूर रहें।

  • संतरे न सिर्फ स्तन-कैंसर की रोकथाम करते हैं, इनमें प्रचुर मात्रा में विटामिन बी6 और कैल्सियम भी पाया जाता है।
  • अंडे और चिकन भी ऐसे भोजन हैं जिनमें प्रोटीन, कैल्सियम और खनिज पाए जाते हैं। अच्छे भरे हुए स्तन पाने के लिए सब्जियों और चिकन का एक बड़ा बाउल नियमित खाएँ।
  • सोया के आधिक्य वाले भोजन भी स्तनों को कड़ा करने में काफी मददगार होते हैं। इन्हें अपनी सब्जियों और पुलाव में मिलाएँ।
  • स्ट्रॉबेरियाँ भी स्तन-कैंसर की रोकथाम करती हैं और आवश्यक विटामिन सी की भी आपूर्ति करती हैं।
  • पास्ता न सिर्फ टेस्टी होता है, यह स्तनों को भी स्वस्थ रखता है। आटे से बने पास्ता खाने से आपकी डाइट में अच्छी मात्रा में कार्ब जुड़ जाते हैं।

ORDER NOW WITH 50% DISCOUNT

Comments

(0 Comments)

Your email address will not be published. Required fields are marked *

  • Lucknow
  • Indore
  • New Delhi
  • Ahmedabad
  • Jaipur
  • Pune
  • Patna
  • Agra
  • Mumbai
  • Chandigarh
  • Bengaluru
  • Kolkata
  • Hyderabad
  • Chennai
  • Guwahati
  • Bhopal
  • Sonipat
  • Shimla
  • Bhubaneswar
  • Coimbatore
  • Gurgaon
  • Ludhiana
  • Jammu
  • Durgapur
  • Rohtak
  • Panipat
  • Kochi
  • Kozhikode
  • Dehradun
  • Ghaziabad
  • Kanpur
  • Noida
  • Meerut
  • Siliguri
  • Anantapur
  • Jamshedpur
  • Surat
  • Vadodara
  • Srinagar
  • Belgaum
  • Shivamogga
  • Kota
  • Allahabad
  • Moradabad
  • Ranchi
  • Raipur
  • Bhilai
  • Kalyan
  • Thane
  • Navi Mumbai